नेशनल

दिल्ली: फीस न देने पर मासूमों को 5 घंटे तक बेसमेंट में किया बंद, मामला दर्ज

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1333
| जुलाई 11 , 2018 , 13:34 IST

देश की राजधानी दिल्ली में प्राइवेट स्कूलों की मनमानी तो सार्वजनिक रुप से देखी जा सकती है पर दिल्ली में एक चौकाने वाला मामला सामने आया है, यहां एक स्कूल में 50 बच्चियों को इसलिए बेसमेंट में बंद कर दिया गया, क्योंकि उनके पैरेंट्स ने फीस जमा नहीं की थी।

बताया जा रहा है कि इस स्कूल में बच्चियों को 4.5 से 5 घंटे तक स्कूल में बंद रखा गया। 40 डिग्री तापमान में भूखी-प्यासी बच्चियां दोपहर होने का इंतजार कर रही थीं, ताकि जल्दी से उनके माता-पिता आकर उन्हें ले जाएं। जब पैरंट्स पहुंचे, तो उन्हें देखते ही बच्चे बुरी तरह रो पड़े। यह मामला दिल्ली के चांदनी चौक इलाके के राबिया गर्ल्स पब्लिक स्कूल का है।

J

बच्चियों के पैरेंट्स ने आरोप लगाया है कि जिस रुम में उन्हे रखा गया था उसकी कुंडी बाहर से लगाई गई थी। जब वे बच्चियों को लेने स्कूल पहुंचे तो स्टाफ भी संतुष्टि भरा जवाब नहीं दे सका। बच्चियों का गर्मियों में भूख-प्यास से बुरा हाल था। अपने बच्चों की हालत देखकर परिजन भी बिफर गए। अपने बच्चों की हालत देखकर परिजन भी बिफर गए। उन्होंने स्कूल के बाहर जमकर हंगामा किया। पुलिस ने जूवेनाइल जस्टिस ऐक्ट की धारा 75 के तहत केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

वहीं कई पैरेंट्स का कहना है कि उन्होंने फीस जमा कर दी है। हालांकि स्कूल प्रबंधन इससे इंकार कर रहा है और उनका कहना है कि स्कूल के डेटाबेस में यह जानकारी उपलब्ध नहीं है। पुलिस ने इस मामले में एफआईआर दर्ज कर ली है। दिल्ली पुलिस ने स्कूल फीस का भुगतान नहीं करने पर केजी के छात्रों को बेसमेंट में बंद करने को लेकर एक स्कूल के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

इसे भी पढ़ें-: पावर मिलते ही एक्शन में केजरीवाल, बुराड़ी में बनेगा 800 बेड वाला अस्पताल

वहीं मामले को तूल पकड़ता देख स्कूल प्रिंसिपल ने आरोपों को झूठा करार दिया है। प्रिंसिपल का कहना है कि बेसमेंट सजा देने का स्थान नहीं है और यह एक एक्टिनिटी रूम है जहां बच्चे खेलते हैं और उन्हें म्यूजिक सिखाया जाता है। यह एक क्लासरूम की तरह ही है।


कमेंट करें