नेशनल

पुलिस ने किया खुलासा, हनीप्रीत ने पंचकूला हिंसा भड़काने के लिए दिए थे 1.25 करोड़ रुपए

अर्चित गुप्ता | 0
191
| अक्टूबर 6 , 2017 , 16:15 IST | पंचकूला

पूर्व डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को दुष्कर्म के मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद पंचकूला में भड़की हिंसा के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। पुलिस की पूछताछ में हनीप्रीत के साथ पकड़ी गई सुखदीप कौर ने बताया कि हनीप्रीत ने दंगा भड़काने के लिए चमकौर को 1.25 करोड़ रुपये दिए थे। पंचकूला 'नाम चर्चा घर' के इंचार्ज चमकौर सिंह ने यह क़ुबूल किया है। मिली जानकारी के मुताबिक, 17 अगस्त को डेरे में मीटिंग के बाद हनीप्रीत ने चमकौर को पैसे भिजवाए थे। उधर, पुलिस ने डेरा सच्चा सौदा की 45 सदस्यीय मैनेजमेंट कमिटी को नोटिस भेजा है। पुलिस ने इन 45 लोगों को जांच में शामिल होने के निर्देश दिए हैं।

पुलिस को शक है कि इन 45 लोगों की हिंसा में अहम भूमिका हो सकती है। बता दें कि 25 अगस्त को साध्वी रेप केस मामले में पंचकुला सीबीआई की विशेष अदालत ने सुनवाई की थी। इस दौरान कोर्ट ने राम रहीम को साध्वी यौन शोषण मामले में दोषी ठहराया था, जिससे आक्रोशित राम रहीम के समर्थकों ने पंचकुला में भारी हिंसा, आगजनी व तोडफ़ोड़ की थी। इस हिंसा मतें 30 से अधिक लोगों की जान चली गई थी। हिंसा के दौरान 100 से ज्यादा गाडिय़ों को आग के हवाले कर दिया गया था। डेरा समर्थकों ने मीडियाकर्मियों पर भी हमले किए थे।

60938709

शहर में हिंसा फैलने के बाद सेना की 6 टुकडिय़ां तैनात करनी पड़ी थी। कथित रूप से राम रहीम की मुंहबोली बेटी हनीप्रीत ने गुरमीत को पुलिस हिरासत से छुड़ाने की भी साजिश रची थी, जिसे पुलिस ने नाकाम कर दिया था। हालांकि बाद में कई दिनों तक पंजाब और हरियाणा पुलिस को छकाने के बाद हनीप्रीत पुलिस की गिरफ्त मे आ गई। हरियाणा पुलिस का कहना है कि जांच के दौरान उन्हे कई फोन कॉल्स के बारे में पता चला था जिनमें लोगों को हिंसा के लिए तैयार होने की बात कही जा रही थी।

पंचकूला के पुलिस कमिश्नर ए. एस. चावला का कहना था कि अलग-अलग फोन कॉल में लोगों को पंचकूला कोर्ट के बाहर इकट्ठा होने और हिंसा करने के संदेश दिए गए थे। इसी वजह से डेरा समर्थकों ने इतना उपद्रव मचाया था।


कमेंट करें

अभी अभी