नेशनल

रेलवे का अत्याचार: एक बार फिर दिव्यांग एथलीट सुवर्णा को मिली ट्रेन में अपर बर्थ

सतीश वर्मा, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
104
| सितंबर 1 , 2017 , 14:50 IST | नई दिल्ली

टेबल टेनिस में देश के लिए मेडल जीत चुकी अंतरराष्ट्रीय पैरा-ऐथलीट सुवर्णा राज को एक बार फिर भारतीय रेल ने निराश कर दिया। पोलियो के कारण 90 फीसदी दिव्यांग खिलाड़ी को एक बार फिर ट्रेन में ऊपर की बर्थ अलॉट की गई। सुवर्णा के साथ ऐसी ही घटना इस साल जून में भी हुई थी। उस वक्त रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने मामले की जांच के आदेश दिए थे।

सुवर्णा ने इस पूरे मामले में कहा है कि,

मेरे साथ जैसा जून में हुआ था वही फिर एक बार हुआ। दिव्यांग होने के बाद भी मुझे ऊपर की बर्थ दी गई जबकि मैंने विशेष श्रेणी (दिव्यांग कोटे) से टिकट लिया था

बता दें कि सुवर्णा ने रेलवे सफर के दौरान टीटी से सीट बदलने की गुजारिश भी की थी लेकिन सीट नहीं मिलने पर उन्हें जमीन पर ही सोना पड़ा था। यह वाकया जून की है।

रेलवे के पीआर ने इस मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि, 

दिव्यांग यात्रियों के लिए रेलवे बहुत संवेदनशील है। हम ऐसे यात्रियों की सुविधाओं और उन्हें मिलने वाली विशेष छूट का खास ख्याल रखते हैं

Suwarna 3

गौरतलब है कि सुवर्णा जून में नागपुर से निजामुद्दीन जाने वाली गरीब रथ ट्रेन में सफर कर रही थीं। उन्हें जब ट्रेन में सफर कर रहे साथी यात्रियों और रेलवे ने उन्हें मिले अपर बर्थ के बजाय लोअर बर्थ देने से मना कर दिया तो उन्हें मजबूरन जमीन पर सोना पड़ा था। इस घटना की देश भर में हुई आलोचना के बाद रेल मंत्री ने इस मामले की जांच के आदेश दिए थे।

 


कमेंट करें