नेशनल

BMC की लापरवाही , मुंबई के मशहूर डॉक्टर के खुले गड्ढे में गिरने की आशंका

श्वेता बाजपेई, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
164
| अगस्त 30 , 2017 , 13:04 IST | मुंबई

मुंबई में बारिश का कहर जारी है। बारिश के चलते अब तक 5 लोगों की मौत हो गई है। सड़कें बारिश के पानी से लबालब भरी हुई हैं। इस बीच गौर करने वाली बात तो यह है कि सड़कों पर कई खुले मैनहोल मौजूद है जो इस बारिश में खतरनाक साबित हो रहे है। ये खुले गढ्ढे कहीं न कहीं बीएमसी की लापरवाही को दर्शाते है।

शहर के नामी डॉक्टर दीपक अमरापुरकर के लापता होने की खबर मिली है। वह मंगलवार की शाम 6:45 बजे से लापता बताए जा रहे हैं। सीनियर डॉक्टर को आखिरी बार बॉम्बे हॉस्पिटल से लौटते वक्त देखा गया था। इस बीच पुलिस ने उनके लापता होने का केस दर्ज कर लिया है। उनके मैनहोल में गिरने की भी आशंका जताई जा रही है। सड़क के पास ही मैनहोल के पास उनकी छतरी मिली है। लेकिन उनकी कोई खबर नहीं है।

डॉक्टर की भतीजी पल्लवी गोडबोले ने बताया, 'उन्होंने ड्राइवर से कहा था कि वह कार को घर ले जाए और वह यह सोचकर ही पैदल ही घर के लिए निकले थे कि 10 मिनट में घर पहुंच जाएंगे। वह जहां पर थे, वहां से हमारा घर सिर्फ 10 मिनट की दूरी पर है।' लोअर परेल में स्थित इंडिया बुल्स के नजदीक उनका छाता पाए जाने के बाद संदेह और गहरा हो गया है। परिवार के लोगों को आशंका है कि संभवत: सड़क पर पानी भरे होने के चलते वह मैनहोल में गिर गए होंगे।

मामले की जांच शुरू कर दी गयी है। इस बीच दादर के मटकर रोड पर खुले पड़े एक मैनहोल में एक व्यक्ति के गिरकर मरने की खबर है। पुलिस ने प्रत्यक्षदर्शियों के बयान के आधार पर मामला दर्ज कर लिया है।

इस मुद्दे को देखते हुए वृहन्मुंबई महानगर पालिका (बीएमसी) पर उंगली उठना लाज़मी है । सडकों पर खुले गढ्ढो को बंद करवाना बीएमसी का काम है जिसके लिए सरकार उसे पैसे देती है तो आखिर बीएमसी ऐसी लापरवाही कैसे कर सकती है ? इसे लेकर बीएमसी को सवालों के कटघरें में घसीटा जा सकता है ।

Gaurav Bidhuri Assures Medal For India (3)


कमेंट करें