राजनीति

स्वास्थ्य मंत्री बेटे ने पिता लालू के लिए किया ऐसा काम, पूरे बिहार में मचा बबाल

सतीश वर्मा, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
145
| जून 13 , 2017 , 16:59 IST | पटना

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव की मुश्किलें खत्म होने का नाम नहीं ले रही है। ताजा मामला बिहार के स्वास्थ्य मंत्री और लालू यादव के बेटे तेजप्रताप यादव के द्वारा इलाज के लिए घर पर IGIMS डॉक्टरों की तैनाती का है।

Lalu 2

स्वास्थ्य मंत्री के आदेश पर लालू के घर 10 दिनों तक सरकारी डॉक्टरों की तैनाती ने विवाद खड़ा कर दिया है। मामला सामने आने के तुरंत बाद डॉक्टरों को वहां से हटा दिया गया, लेकिन बड़ा सवाल है कि आखिर वह बीमार शख्स है कौन, जिसके लिए आदेश पारित कर स्वास्थ्य मंत्री के घर डॉक्टरों की टीम तैनात की गई थी।

Lalu 1

IGIMS के सुपरिटेंडेंट ने आरोप से किया इनकार

IGIMS के मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉ पीके सिन्हा ने कहा कि कोई भी वहां स्थायी तौर पर तैनात नहीं था, सबुह- शाम की शिफ्ट में तैनात थे।

उन्होंने कहा कि,

तेज प्रताप स्वास्थ्य मंत्री हैं, हम उन्हें किसी चीज के लिए मना नहीं कह सकते। स्वास्थ्य मंत्री और IGIMS का चेयरमैन होने के नाते उन्हें प्राथमिकता मिलेगी

उन्होंने कहा कि आम आदमी और एक चेयरमैन में फर्क होता है। और अगर किसी का इलाज हो रहा है तो हम जानकारी लीक नहीं कर सकते।

मई के आखिरी हफ्ते में बिगड़ी थी लालू की तबीयत

दरअसल, मई के आखिरी हफ्ते में लालू यादव की तबीयत खराब हुई थी। जिसके बाद उनके इलाज के लिए इंदिरा गांधी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (IGIMS) के तीन डॉक्टर और दो नर्स की टीम को लालू के इलाज के लिए भेजा गया।

मंत्री तेज प्रताप के सरकारी आवास पर चला था लालू का इलाज

डॉक्टरों की ये टीम 31 मई से 8 जून तक बिहार के स्वास्थ्य मंत्री और लालू यादव के बेटे तेज प्रताप यादव के सरकारी आवास पर डॉक्टरों की टीम ने उनका इलाज किया। बताया जा रहा है कि तेज प्रताप यादव ने ही डॉक्टरों को इसका आदेश दिया था।

Order

आरोप है कि सरकारी खर्च पर इस तरीके से इलाज कराना गलत है। ऐसे में सरकारी आवास पर लालू के इलाज की खबर के बाद लालू परिवार एक बार फिर विवादों में आ गया है।

 

 

 


कमेंट करें