राजनीति

गुजरात के लोगों को PM ने लिखी चिट्ठी, गुजरात को बताया 'आत्मा', भारत को 'परमात्मा'

सतीश वर्मा, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
181
| नवंबर 7 , 2017 , 21:32 IST | अहमदाबाद

पीएम नरेंद्र मोदी ने गुजरातियों को संबोधित करते हुए एक चिट्ठी लिखी है। गुजरात चुनाव को ध्यान में रखते हुए लिखी गई इस चिट्ठी में पीएम ने लोगों से जाति और संप्रदाय की राजनीति में नहीं फंसने की अपील की है। पीएम ने गुजरात को आत्मा और भारत को परमात्मा बताते हुए गुजरातियों से कहा है कि उन्हें बीजेपी के शासन में आने से 22 साल पहले के गुजरात के बुरे हालातों को याद रखना चाहिए।

Modi 1

पीएम मोदी ने लोगों को वोट देने की अपील की

पीएम ने लोगों से बीजेपी को वोट देने की अपील की करते हुए कहा है कि यूपीए राज में प्रदेश के साथ हुई अनदेखी के बावजूद विकास के लिए हुए संघर्ष के साथ न्याय किया जाए। पीएम ने लिखा है कि आज गुजरात के जिन लोगों की उम्र 20 के आसपास है उन्हें शायद न याद हो कि वर्षों पहले राज्य के मतदाता कैसे सांप्रदायिक और जातिवादी पूर्वाग्रहों से जूझ रहे थे।

पीएम ने लिखा है कि यह अब आपकी जिम्मेदारी है कि राज्य को फिर से इस जाल में फंसने से बचाएं। पीएम की चिट्ठी ऐसे समय में आई है जब कांग्रेस गुजरात में अलग-अलग जाति से आने वाले ताकतवर नेताओं को अपनी ओर करने की कोशिश में जुटी है। ओबीसी तबके से आने वाले एक महत्वपूर्ण युवा नेता अल्पेश ठाकोर कांग्रेस में शामिल हो चुके हैं। कांग्रेस पाटीदार नेता हार्दिक पटेल के साथ भी बातचीत में जुटी हुई है।

विकास को गुजरातियों से बेहतर कोई नहीं समझ सकता है

पीएम ने अपने खत में लिखा है कि ऐसा पहली बार हुआ है कि केंद्र और राज्य, दोनों ही जगहों पर बीजेपी की सरकार है। पीएम ने लिखा है कि 'अभी केवल 3 साल ही हुए हैं जब आपने मुझे देश के नेतृत्व की जिम्मेदारी दी है। इतने कम समय में हम ऐसी कई स्कीम लेकर आए हैं जिनसे गरीबों की जिंदगी बेहतर हुई है।' पीएम ने अपने खत में लिखा है कि 'विकास को गुजरातियों से ज्यादा कोई नहीं समझ सकता। विकास ही सारी समस्याओं का जवाब है और बीजेपी को एक बार फिर वोट देकर आपको विकासयात्रा को आगे लेकर जाना चाहिए।

गुजरात में 9 दिसंबर और 14 दिसंबर को दो फेज में विधानसभा चुनावों के लिए वोटिंग होनी है। पार्टी सूत्रों का कहना है कि पीएम की यह चिट्ठी मंगलवार से शुरू हुए महासंपर्क अभियान के तहत वोटरों के बीच बांटी जाएगी।

 


कमेंट करें