नेशनल

लालू की बेटी मीसा की बढ़ी मुश्किलें, ED ने मनी लॉन्ड्रिंग केस में फाइल की चार्जशीट

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
127
| जनवरी 6 , 2018 , 16:42 IST | नई दिल्ली

चारा घोटाला मामले में सजा का ऐलान होने वाला है, लालू यादव के परिवार की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं लें रहीं हैं।

प्रवर्तन निदेशालय ने आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव की बेटी मीसा भारती के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में दायर आरोप पत्र पर शनिवार को दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट में सुनवाई हुई। प्रवर्तन निदेशालय ने इस मामले में पटियाला हाउस कोर्ट में एक और सप्लीमेंट्री चार्जशीट दाखिल की।

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने 8000 करोड़ रुपये के मनी लॉन्ड्रिंग केस में लालू की सांसद बेटी मीसा भारती और उनके पति शैलेश कुमार के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की है।

आपको बता दें कि ईडी ने जुलाई में इस मामले के संबंध में भारती के चार्टर्ड अकाउंटेंट राजेश अग्रवाल के खिलाफ पूरक आरोप-पत्र दायर किया था, जिसमें कुछ कारोबारियों समेत कारोबारी बंधु सुरेंद्र जैन और वीरेंद्र जैन सहित लगभग 35 लोग आरोपित थे।

गौरतलब है कि लालू की बेटी और राज्यसभा सांसद मीसा भारती के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ईडी पहले ही कई ठिकानों पर छापे मार चुकी है। दिल्ली की एक अदालत में मीसा भारती के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग केस में ईडी ने चार्जशीट फाइल की। इससे पहले 1 हजार करोड़ रुपए की कथित बेनामी संपत्ति की जांच कर रही ईडी ने मीसा के दिल्ली समेत दूसरी जगहों पर संपत्ति के 3 ठिकानों पर छापेमारी की थी। बाद में मीसा अपने पति के साथ आयकर विभाग के सामने पेश भी हुई थीं।

इसी साल सितंबर में ईडी ने मीसा भारती के दिल्ली से सटे बिजवासन इलाके स्थित फार्म हाउस को जब्त किया था। यह फार्म हाउस मीसा और उनके पति शैलेश का है। मीसा और शैलेश के जवाबों से संतुष्ट नहीं होने पर प्रवर्तन निदेशालय ने यह कदम उठाया था।

इसे भी पढ़ें :- चारा घोटाला: अब सजा का ऐलान कल, लालू प्रसाद ने लगाई रहम की गुहार

आरोप है कि यह फार्म हाउस शेल कंपनियों के जरिए आए धन से खरीदा गया था। चार शेल कंपनियों के जरिए 1 करोड़ 20 लाख रुपये आए थे जिसके जरिए इस प्रॉपर्टी को खरीदा गया था। मीसा पर यह भी आरोप है कि साल 2008-09 में शेल कंपनियों के जरिए पैसा तब आया था जब लालू यादव रेलमंत्री थे।


कमेंट करें