राजनीति

EVM पर EC का विरोधियों को चैलेंज, दो दिन में मशीन से छेड़छाड़ करके दिखाए

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
112
| मई 12 , 2017 , 12:19 IST | नई दिल्ली

चुनाव आयोग ईवीएम के मुद्दे पर सर्वदलीय बैठक करने जा रहा है। बैठक में करीब 39 राजनीतिक पार्टियां शरीक होंगी। कांग्रेस, बहुजन समाज पार्टी और आम आदमी पार्टी समेत करीब 16 विपक्षी पार्टियों ने ईवीएम से छेड़छाड़ की आशंका जताई है। बैठक में आयोग इन शंकाओं को दूर करने की कोशिश करेगा।

वहीं दिल्ली के बीजेपी-अकाली विधायक मनजिंदर सिंह ने कहा कि चुनाव आयोग ने दो दिन बाद ईवीएम में गड़बड़ी साबित करने की चुनौती दी है। इस बैठक में शामिल होने से पहले आप विधायक सौरभ भारद्वाज ने कहा कि, हम चुनाव आयोग को कोई चुनौती नहीं देना चाहते हैं, हम तो सिर्फ उन सवालों के जवाब चाहते हैं, जो लोग जानना चाहते हैं।

वहीं दिल्ली के बीजेपी-अकाली विधायक मनजिंदर सिंह ने कहा कि चुनाव आयोग ने दो दिन बाद ईवीएम में गड़बड़ी साबित करने की चुनौती दी है। इस बैठक में शामिल होने से पहले आप विधायक सौरभ भारद्वाज ने कहा कि, हम चुनाव आयोग को कोई चुनौती नहीं देना चाहते हैं, हम तो सिर्फ उन सवालों के जवाब चाहते हैं, जो लोग जानना चाहते हैं।

इस बैठक में चुनाव आयोग ने कहा कि,

ईवीएम हैक नहीं हो सकती है, हम आपको दो दिन का मशीन देंगे। आप अपने लोगों को लेकर आए और अपना सर्वश्रेष्ठ दें

चुनाव आयोग ने कहा कि, ईवीएम कम्प्यूटर से नहीं चलता, ना ही मशीन इंटरनेट से जुड़ी है। इस मशीन में कोई फ्रिक्वेंसी रिसीवर नहीं है और न ही बाहरी या फिर वायरलैस डेटा पोर्ट है। इस मशीन के साथ छेड़छाड़ इसे बनाने वाला भी नहीं कर सकता। मशीन को बनाने वाले को नहीं पता कौन कहां से उम्मीदवार होगा।

2013 के बाद की ईवीएम में नई सुरक्षा प्रणाली इस्तेमाल की गई। हालांकि इस बैठक में विपक्षी दल एकजुट नजर नहीं आए। एक तरफ आम आदमी पार्टी ने ईवीएम में छेड़छाड़ दिखाने की बात कहीं, तो ज्यादातर विपक्षियों ने ईवीएम के साथ पेपर बैक अप मशीन लगाने पर जोर दिया।

चुनाव आयोग का 'चैलेंज'

पिछले महीने चुनाव आयोग ने कहा था कि वो ईवीएम पर सवाल उठा रही पार्टियों को मशीनों के साथ छेड़छाड़ का खुला चैलेंज देगी। इसके लिए आयोग ने सभी पार्टियों को मीटिंग में अपने तीन नुमाइंदे भेजने को कहा है। इनमें से एक तकनीकी विशेषज्ञ होगा। चुनाव आयोग ने ईवीएम मशीनों के लाइव डेमो के लिए इंतजाम किये है।

ईवीएम के अलावा भी होंगे मुद्दे

हालांकि मीटिंग में ईवीएम का मुद्दा छाये रहने की उम्मीद है। लेकिन बैठक के एजेंडा में कई दूसरे अहम मुद्दे भी हैं। चुनाव आयोग पार्टियों के नुमाइंदों को वोटर वेरिफाइएबल पेपर ऑडिट ट्रेल (वीवीपैट) के इस्तेमाल की जानकारी देगा। चुनाव आयोग ने 2019 से हर बूथ पर वीवीपैट मशीनों के इस्तेमाल की योजना बनाई है।

Vvpat

इन मशीनों से हर वोट की रसीद निकलेगी जो 7 सेकेंड में मशीन से निकलकर सीधे बक्से में चली जाएगी। इस मशीन में वोटर देख सकता है कि उसका वोट सही पड़ा है या नहीं। साथ ही बैठक में चुनाव के दौरान रिश्वतखोरी को संज्ञेय अपराध (COGNIZABLE OFFENCE) बनाने पर भी चर्चा होगी। आयोग चाहता है कि इस अपराध में फंसे नेताओं पर आरोप तय होने के बाद चुनाव लड़ने की रोक लगे।

आम आदमी पार्टी का चैलेंज

ईवीएम में छेड़छाड़ का मुद्दा सबसे पहले मायावती ने यूपी विधानसभा चुनाव में हार के बाद उठाया था। पिछले दिनों आम आदमी पार्टी के विधायक सौरभ भारद्वाज ने दिल्ली विधानसभा में ईवीएम में छेड़छाड़ का लाइव डेमो दिया था। आज की बैठक में पार्टी की नुमाइंदगी सौरभ भारद्वाज ही करेंगे।

पार्टी का दावा है कि वो मीटिंग के दौरान ईवीएम में छेड़छाड़ की आशंका को सही साबित करेंगे। केजरीवाल समेत आम आदमी पार्टी के दूसरे नेताओं की मांग है कि ईवीएम टैंपरिंग की जांच के लिए सभी पार्टियों की कमेटी बनाई जाए।

Saurabh

 


कमेंट करें