नेशनल

योगी राज में मानवता शर्मसार: बाप को कंधे पर ले जाना पड़ा बेटे का शव

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
111
| मई 2 , 2017 , 14:00 IST | इटावा

इटावा के जिला अस्पताल में मानवता को शर्मसार करने वाली तस्वीर सामने आयी है। एक लाचार मजदूर बाप अपने बेटे के शव को कंधे पर लादकर अस्पताल परिसर के बाहर ले जाते हुए की यह तस्वीर मानवता को शर्मसार करने और स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही की पोल खोलने के लिए काफी है।

Etawah 1

योगी सरकार की बात करे या फिर इससे पहले रही अखिलेश सरकार की बात की जाये दोनों ने ही मरीजो और मृतको के शव के लिए विशेष वाहन की सुविधा देने का वादा तो किया लेकिन हकीकत तो इस तस्वीर से बयां हो रही है।

अभी हाल ही में उड़ीसा के दाना मांझी की एक तस्वीर ने इंसानियत को झकझोर कर रख दिया था जब अस्पताल से एंबुलेंस नहीं मिलने के कारण वो अपने पत्नी की लाश को कंधे पर लेकर 10 किलो मीटर तक पैदल चल कर घर पहुंचा था।

Dm 1

इटावा के विक्रमपुर गाँव निवासी मजदूर उदयवीर सिंह अपने 13 वर्षीय बेटे की तबियत ख़राब हो जाने पर अपने बेटे को कंधे पर लादकर जिला अस्पताल में पहुंचा। जहा पर अस्पताल में मोजूद डॉक्टर ने उसके बेटे को मृत घोषित कर दिया। अपने बेटे को घर वापस ले जाने की सलाह देते हुए वहां से जाने को कहा। लाचार मजदूर अपने बेटे के शव को कंधे पर डालकर अस्पताल परिसर से रोते हुए बाहर निकल गया।

बड़ा सवाल यह है कि सूबे में बैठी मुख्यमंत्री योगी की सरकार स्वास्थ्य विभाग की तरफ से गरीबो को हर संभव मदद देने का भरोसा तो देती है लेकिन धरातल पर उन योजनाओ का पालन किस तरीके से किया जाता है इस तस्वीर को देखने के बाद कुछ भी कहने को नही बचता है।

इटावा सीएमओ डॉक्टर राजीव कुमार यादव से जब इस मामले के बारे में बात की गयी तो उन्होंने दोषी डॉक्टर के खिलाफ कार्यवाही करने की बात कही है।

 


कमेंट करें