विज्ञान/टेक्नोलॉजी

फेसबुक के पूर्व प्रेसिडेंट का खुलासा, 'ड्रग्स जैसा है फेसबुक, बच्चों को बना रहा है साइको'

अर्चित गुप्ता | 0
64
| नवंबर 12 , 2017 , 16:12 IST | नई दिल्ली

फेसबुक के पहले प्रेसिडेंट सीन पार्कर ने कहा है कि फेसबुक लोगों के दिमाग पर कब्जा कर लेता है और फिर अपने हिसाब से उसका शोषण करता है। हाल ही में एक इवेंट में मौजूद शॉन पार्कर ने फेसबुक की काफी आलोचना की। उन्होंने बताया कि फेसबुक डेवलपर्स जानते हैं कि लोगों को इसे इस्तेमाल करने के लिए मजबूर किया जा रहा है। उन्होंने ये भी कहा कि जानबूझकर और संभावित तौर पर इन तरीकों से यूजर्स के दिमाग को प्रभावित किया जाता है।

अमेरिकी न्यूज वेबसाइट axios के एक इवेंट में फेसबुक के पूर्व फाउंडिंग प्रेसिडेंट शॉन पार्कर ने कहा कि फेसबुक कुछ सीक्रेट तरीकों से लोगों को फेसबुक इस्तेमाल करने के लिए मजबूर करता है। फेसबुक ने रिसर्च के बाद इसके लिए कुछ खास तरीके डेवलप किए हैं, जिसके जरिए लोग अनजाने में ही अपनी निजी जिंदगी में फेसबुक शामिल कर लेते हैं। साथ ही जो यूजर्स फेसबुक छोड़ना चाहते हैं उन्हें भी फेसबुक कुछ सीक्रेट ट्रिक के जरिए रोकने की कोशिश करता है।

शॉन पार्कर यही नहीं रूके और उन्होंने मार्क जुकरबर्ग पर चुटकी लेते हुए कहा कि इसे पढ़कर शायद मार्क जकरबर्ग उनका अकाउंट ब्लॉक कर देंगे। शॉन पार्कर ने कहा है, "हम आपका ज्यादा से ज्यादा समय और अटेंशन कैसे ले सकें, इन ऐप्लिकेशन्स को बनाने के पीछे इस तरह के थॉट प्रोसेस होते हैं और फेसबुक वैसे ऐप में पहला है।"

शॉन ने ये भी कहा कि समय-समय पर ड्रग की तरह डोज दिया जाता है, जिससे लोग जितना ज्यादा समय इस पर बिताते हैं, उतना ही ज्यादा इसके लिए एडिक्टेड होते जाते हैं। उन्होंने कहा, "निवेशक, क्रिएटर, मैं, मार्क जकरबर्ग, केविन सिस्ट्रॉम ये सब लोग हैं हम इसे समझते हैं और और इस तरह की चीजों को जानबूझकर किया है।" जैसा कि हम आपको पहले ही बता चुके हैं शॉन पार्कर फेसबुक के पूर्व प्रेसिडेंट रह चुके हैं।


कमेंट करें