नेशनल

छेड़छाड़ पीड़ित की जुबानी, आधी रात में हरियाणा BJP अध्यक्ष के बेटे की गुंडागर्दी की कहानी

आरती यादव, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
176
| अगस्त 6 , 2017 , 14:37 IST | चंडीगढ़

हरियाणा भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे विकास बराला और उसके दोस्त आशीष कुमार पर आईएएस अफसर की बेटी से छेड़छाड़ करने का आरोप लगा है। मामले में पीड़ित लड़की ने अपने बयान में कहा कि-''वो लगातार मेरी कार का पीछा कर रहे थे। यहां तक कि उन्होंने मेरी कार का शीशा खोलने की भी कोशिश की थी। शुक्र है कि चंडीगढ़ पुलिस समय पर पहुंच गई थी। अगर पुलिस समय पर न आती तो कुछ भी बुरा हो सकता था।'' पीड़िता और उसके पिता ने फेसबुक पोस्ट के जरिए अपनी कड़वे अनुभव को बताया। 

पीड़िता ने अपने फेसबुक पोस्ट पर लिखा- आरोपी युवक मेरी कार का पीछा कर रहे थे। आरोपियों ने एक जगह मेरी कार के आगे अपनी एसयूवी लगाकर रास्ता रोक दिया था। मैं कार तेजी से पीछे ले गई और पुलिस को फोन कर मदद मांगी। आगे रास्ते में पुलिस की गाड़ी ने इन युवकों को धर दबोचा। एक बुरा हादसा होते-होते बच गया। इसके बाद पीड़िता ने लिखा है मैं शुक्रवार रात 12.15 बजे घर जा रही थी। कार चलाते हुए मोबाइल फोन पर बात कर रही थी। इस दौरान लगा की एक सफेद एसयूवी कार मेरी कार के पीछे आ रही है। अपनी कार साइड कर एसयूवी को आगे जाने की जगह दी। लेकिन कार में बैठे दो युवकों ने चलती कार से फब्तियां कसते हुए छेड़खानी शुरू कर दी। लिहाजा भीड़भाड़ वाले रास्ते से जाने की कोशिश की। 

BJP_1

इस दौरान युवकों ने फिर लड़की का रास्ता रोका। उसने अगले मोड़ से कार मोड़ने की कोशिश की लेकिन युवकों ने कार के आगे एसयूवी लगा दी और कार से निकल कर लड़की की कार की ओर आने लगे। लिहाजा मैंने तेजी से कार पीछे ली और पुलिस को फोन किया। पुलिस को कार की जगह बताई और मदद मांगी। फोन पर ही पुलिसकर्मी ने कहा कि जल्द मदद के लिए पहुंच रहे हैं। इसके बाद लड़की ने लिखा है इस दौरान मेरी कार मेन रोड पर आ चुकी थी। तब कुछ सेकेंड तक कार नहीं दिखाई देने पर मैंने राहत की सांस ली। लेकिन इसी दौरान एसयूवी मेरी कार के बराबर आ गई। मैं कार तेजी चला रही थी। हर 10-15 सेकेंड बाद कार मेरी कार के दाएं-बाएं आ रही थी। मैं बहुत घबरा गई थी। मेरे हाथ कांपने शुरू हो गए थे। 

लड़की ने आगे लिखा रीढ़ की हड्डी में अकड़न सी महसूस हो रही थी। आंखों से आंसू आ गए थे। एसयूवी ने छह किलोमीटर तक मेरी कार का पीछा किया। उन्होंने मेरी कार के आगे एसयूवी खड़ी कर दी। मैंने अपनी कार में सेंट्रल लॉक लगा लिया था। ’इसके अलावा लड़की ने कहा है कि इन युवकों ने उसकी कार की खिड़की तोड़ने की कोशिश भी की लेकिन इसी दौरान पुलिस की गाड़ी आते हुए दिखाई दी और मैंने राहत की सांस ली।

पीड़िता के पिता ने फेसबुक पर लिखा- अगर मैं इस मामले में पूरी तरह से अपनी बेटी के लिए खड़ा नहीं होता हूं, तो मैं एक पिता के रूप में अपने कर्तव्य में असफल रहूंगा। दो बेटियों का पिता होने के नाते, मुझे इस मामले को इसके तर्कसंगत निष्कर्ष तक ले जाना होगा। गुंडों को सजा मिलनी चाहिए और कानून को अपना काम करना होगा। गुंडे प्रभावशाली परिवारों से हैं। हम सभी जानते हैं कि उत्पीड़न के ऐसे ज्यादातर मामलों में सजा नहीं दी जाती और कुछ मामले तो दर्ज भी नहीं किए जाते। हम जानते हैं कि यह एक आसान संघर्ष नहीं होगा।

आपको बता दें कि चंडीगढ़ में कार से अपने घर लौट रही एक लड़की का पीछा करने के आरोप में पुलिस ने बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे विकास बराला और उसके साथी आशीष को गिरफ्तार किया है, लेकिन मामला हाईप्रोफाइल होने के चलते उन्हें कुछ देर में ही जमानत पर रिहा कर दिया गया है। मामले में विपक्ष सुभाष बराला पर कार्रवाई की मांग कर रहा है। हालांकि राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा है कि उनके बेटे के अपराध में मंत्री को दंड देना सही नहीं होगा। कानून अपना काम करेगा।


कमेंट करें