अभी-अभी

तैयारियां पूरी नहीं लेकिन टोक्यो में बोले जेटली, 1 जुलाई से ही लागू होगा GST

icon कुलदीप सिंह | 0
296
| मई 8 , 2017 , 16:35 IST | टोक्यो

वित्त मंत्री अरूण जेटली ने आज कहा कि वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) एक जुलाई से लागू होना तय है और इससे वस्तुओं के दाम में कोई महत्वपूर्ण वृद्धि नहीं होगी, यद्यपि कुछ सेवाओं की लागत में मामूली वृद्धि हो सकती है।

How-GST-would-affect-the-Media-and-Entertainment-Industry

भारत की आजादी के बाद जीएसटी को सबसे बड़ा कर सुधार बताते हुए जेटली ने कहा कि जीएसटी से राज्य और केंद्र के स्तर पर लगने वाले करों के स्थान पर एक राष्ट्रीय बिक्री कर लगेगा जो देश में एकल बाजार का निर्माण करेगा और कारोबारियों के लिए उसकी पहुंच आसान बनाएगा।

यहां सीआईआई-कोटक निवेशक गोलमेज सम्मेलन को संबोधित करते हुए जेटली ने कहा कि उनकी अध्यक्षता और हर राज्य का प्रतिनिधित्व करने वाली जीएसटी परिषद अगले कुछ दिनों में विभिन्न वस्तुओं और सेवाओं के लिए कर की दर को अंतिम स्वरूप प्रदान कर देगी और देश एक जुलाई से अप्रत्यक्ष करों को आसान बनाने के सही रास्ते पर है।

 

राजस्व विभाग ने करदाताओं से इस माह के अंत तक वस्तु एवं सेवाकर (GST) प्रणाली से जुड़ने के लिए कहा है क्योंकि मौजूदा सेवाकरदाताओं में से केवल 34 प्रतिशत ही अब तक इस नयी कर प्रणाली के साथ जुड़े हैं। ज्यादा लोगों को इससे जोड़ने के लिए विभाग अपने पहुंच कार्यक्रम का विस्तार कर रहा है।

मौजूदा समय में कुल 80 लाख मूल्य वर्धित कर (वैट), उत्पाद एवं सेवाकरदाता हैं। अभी वैट करदाताओं में से 75 प्रतिशत और केंद्रीय उत्पाद शुल्क दाताओं में से 73 प्रतिशत लोगों ने जीएसटी नेटवर्क (जीएसटीएन) में अपना पंजीकरण करा लिया है लेकिन सेवाकर दाताओं में से केवल 34 प्रतिशत ही इस प्रणाली से जुड़े हैं। जीएसटीएन नयी कर व्यवस्था में कर भुगतान का माध्यम होगी। 


Gst


author
कुलदीप सिंह

लेखक www.Khabarnwi.com के Editorial Head हैं और News World India समाचार चैनल में executive editor हैं. आप उन्हें twitter पर @kuldeeps1980 पर फॉलो कर सकते हैं.

कमेंट करें