नेशनल

कर्नाटक चुनाव से ठीक पहले मिला फर्जी वोटर कार्ड का जखीरा

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
796
| मई 9 , 2018 , 13:31 IST

चुनाव के नजदीक आते ही सियासी पारा चढ़ता दिखाई देने लगा है। चुनाव से से पहले एक सनसनीखेज खबर आई है। जिसने दोनो पार्टीयां ही एक दूसरे पर आरोप साबित करने पर लग गईं हैं। बेंगलुरू के जलाहल्ली इलाके के एक घर से करीब 10 हजार फर्जी वोटर आईडी कार्ड मिले हैं। प्रशासन से लेकर चुनाव आयोग तक में हड़कंप मच गया है।

कर्नाटक में चुनाव करीब आते ही आरोप प्रत्यारोप का दौर लगातार जारी है। बीजेपी द्वारा कांग्रेस विधायक पर फर्जी मतदाता पहचान पत्र बनाने के आरोप के बाद राज्य चुनाव आयोग ने तड़के करीब 12:15 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस की। आयोग ने कहा कि यह एक गंभीर मामला है। जिसे हम यहां तय नहीं कर सकते।

बीजेपी का कांग्रेस पर आरोप-:

बता दें कि कल रात एक फ्लैट से करीब 10 हज़ार वोटर आईडी कार्ड मिलने पर हड़कंप मच गया। पुलिस ने यहां से कंप्यूटर, प्रिंटर और हजारों की संख्या में वोटर कार्ड बरामद किए हैं। बीजेपी ने आरोप लगाया कि यह अपार्टमेंट एक कांग्रेसी नेता का है और कांग्रेस चुनाव जीतने के लिए बेइमानी पर उतर आई है।

मतदान से महज चार दिन पहले चुनावी साज़िश के ये सबूत बैंगलुरु के जालहल्ली इलाके के एसेल वी पार्क व्यू अपार्टमेंट से मिले हैं। फ्लैट नंबर 115 में चुनावी साज़िश के इतने सबूत मिले कि वहां रेड मारने गई चुनाव आयोग की टीम हैरान रह गई।

दर्ज हुई FIR-:

मामले की गंभीरता को देखते हुए आधी रात कर्नाटक के मुख्य चुनाव अधिकारी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की और कहा कि फ्लैट में वोटर आईडी कार्ड कहां से आए, किसने मंगाए, क्या थी पूरी साज़िश इसके खुलासे के लिए जांच कर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। आयोग ने FIR भी दर्ज कर ली है।

किसका है हाथ ?

कर्नाटक के मुख्य चुनाव अधिकारी संजीव कुमार ने बताया कि फ्लैट से नौ हज़ार सात सौ छियालीस वोटर आईडी कार्ड मिले हैं। ये कार्ड असली हैं। जो भी अनियमितता हुई है, जिस किसी ने भी ये काम किया है, सारी चीजों का पता लगाया जाएगा।

इसे भी पढ़ें-: सोनिया का मोदी पर हमला, भाषण से अगर देश का पेट भरता हो, तो वह और अच्छा भाषण दें

निष्पक्ष चुनाव सुनिश्चित किया जाएगा और सही वक्त पर सही एक्शन लिया जाएगा। अभी मेरे लिए इस बारे में कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी। जांच अभी होनी है। चुनाव आयोग की रेड के बाद कर्नाटक की सियासत में मिडनाइट ड्रामा शुरू हो गया।

कांग्रेस का बीजेपी पर पलटवार-:

बीजेपी के आरोपों के बाद कांग्रेस एक्शन में आ गई। कुछ फोटो पेश किए, कागजात दिखाए और दावा किया कि फ्लैट में रहने वाला राकेश फ्लैट की मालिकन मंजूल का दत्तक पुत्र है और वो बीजेपी उम्मीदवार रह चुका है। कांग्रेस के आरोपों पर बीजेपी ने सफाई दी है और कहा है कि साज़िश वाले फ्लैट का मंजूला के बेटे से कोई संबंध नहीं है। मंजूला 6 साल पहले बीजेपी छोड़कर कांग्रेस में शामिल हो चुकी है।


कमेंट करें