नेशनल

वाराणसी हादसा: एक्शन में आयी UP सरकार, डिप्टी सीएम ने किया 4 अधिकारियों को सस्पेंड

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
905
| मई 16 , 2018 , 12:28 IST

वाराणसी में निर्माणाधीन पुल का हिस्सा गिरने से के बाद 19 लोगों की मौत हो गई। घटना के कुछ घंटों के बाद उत्तर प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य वाराणसी पहुंचे और इस पुल निर्माण से जुड़े चार अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया। इसके अलावा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी वाराणसी के लिए रवाना हो चुके हैं।

वाराणसी में निर्माणाधीन पुल का स्लैब गिरने से लगभग 19 लोगों की मौत हो गई है। घटना के कुछ घंटो बाद उत्तर प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या वाराणसी पहुंचे और इस पुल निर्माण से जुड़े 4 अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया।

बता दें कि जिन अफसरों पर गाज गिरी है, उनमें चीफ प्रॉजेक्ट मैनेजर एचसी तिवारी, प्रॉजेक्ट मैनेजर के. एस सूदन, सहायक अभियंता राजेंद्र सिंह और अवर अभियंता लालचंद के नाम शामिल है। साथ ही प्रदेश सरकार की ओर से मृतकों के परिवार को 5 लाख रुपये और घायलों को 2 लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की गई है।

वाराणसी पहुंचे केशव प्रसाद मौर्य ने मीडिया से बात करते हुए कहा,' सरकार लगातार वाराणसी में किए जा रहे राहत कार्य की मॉनिटरिंग कर रही है और अधिकारियों को घायलों के इलाज के लिए हर संभव इंतजाम को पूरा करने के निर्देश दे दिए गए हैं। उन्होंने यह भी कहा कि सरकार ने इस हादसे की जांच के लिए एक हाई लेवल कमिटी का गठन किया है, जिसकी रिपोर्ट आने के बाद दोषी लोगों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।'

बता दें कि वाराणसी में मंगलवार शाम कैंट स्टेशन के पास निर्माणाधीन पुल का हिस्सा गिरने के कारण दर्जनों लोग मलबे में दब गए थे। इस हादसे के बाद अब तक 18 लोगों की मौत होने की पुष्टि की गई है, जबकि हादसे में 50 से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं। वाराणसी में हुए इस भीषण हादसे के बाद एनडीआरएफ और सेना की टीमों को मौके पर राहत कार्यों के लिए भेजा गया है।

सीएम का आदेश 48 घंटे में सौंपे जांच रिपोर्ट-:

मीडिया से बातचीत के दौरान सीएम ने कहा, 'हमने इस हादसे की जांच के लिए एक हाई पावर कमिटी का गठन किया है, जिसे हादसे की जांच कर 48 घंटे में अपनी रिपोर्ट सौंपने के आदेश दिए गए हैं। इस रिपोर्ट में जो भी इस पूरे मामले का दोषी पाया जाएगा उस पर सरकार कठोरतम कार्रवाई करेगी।'

सरकार द्वारा गठित इस कमिटी में उत्तर प्रदेश के कृषि उत्पादन आयुक्त राज प्रताप सिंह, सिंचाई विभाग के प्रमुख अभियन्ता भूपेंद्र शर्मा और उत्तर प्रदेश जल निगम के प्रबंध निदेशक राजेश मित्तल को शामिल किया गया है।

पीएम मोदी ने मुख्यमंत्री से ली जानकारी-:

वहीं इस घटना के बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने भी सीएम योगी को फोन कर हादसे के बाद घटनास्थल पर चलाए गए राहत कार्य के संबंध में जानकारी ली। वाराणसी के हादसे के बाद इस पर दुख जताते हुए पीएम ने अपने ट्वीट में लिखा, 'मैंने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से वाराणसी में निर्माणाधीन पुल गिरने से हुए हादसे पर बात की। उत्तर प्रदेश सरकार स्थिति पर करीब से नजर रखे हुए है और हादसे से प्रभावित लोगों की मदद के लिए जमीनी स्तर पर काम कर रही है।'


कमेंट करें