नेशनल

NDTV छापे पर CBI ने यूएस अखबार को दिया जवाब, हमें प्रेस की आजादी ना समझाएं

अनुराग गुप्ता, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
101
| जून 17 , 2017 , 12:08 IST | नई दिल्ली

NDTV न्यूज चैनल के प्रमोटर के घर पर सीबीआई द्वारा की गई छापेमारी के बाद अमेरिकी अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स ने एक एडिटोरियल छापा था। इस एडिटोरियल पर सीबीआई पर सवाल खड़े किए गए। दरअसल, न्यूयॉर्क टाइम्स ने सवाल करते हुए कहा था कि भारत में कई बड़े लोन डिफॉल्टर है मगर, सीबीआई ने एक मीडिया कंपनी पर कार्रवाई की। जिसके जवाब में सीबीआई ने कहा कि भारत को प्रेस की आजादी के बारे में अमेरिकी अखबार से सबक लेने की जरूरत नहीं है।

Prannoy-roy

7 जून को छापे गए एडिटोरियल का जवाब देने के लिए सीबीआई के प्रवक्ता आर के. गौर ने एक हिन्दी अखबार को पत्र लिखकर जवाब भेजा। गौर ने लिखा कि- एडिटोरियल को पढ़कर ऐसा लगता है कि जैसे बड़े लोन डिफॉल्टर्स पर कोई कार्रवाई नहीं होती और एनडीटीवी प्रमोटर के घर छापा बदले की कार्रवाई के तहत हुआ है। अमेरिकी अखबार ने इस मामले में जांच का इतिहास नहीं देखा हमने कानून के दायरे में रहकर कार्रवाई की।

Ndtv-raid-759

गौरतलब है कि सीबीआई ने 5 जून को एनडीटीवी के संस्थापक प्रणय रॉय के आवास पर छापेमारी की और उनके और उनकी पत्नी के खिलाफ कथित तौर पर बैंक के साथ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है। सीबीआई ने प्रणय रॉय, उनकी पत्नी राधिका रॉय, एक निजी कंपनी और अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया और रॉय के ग्रेटर कैलाश-1 स्थित आवास पर छापेमारी की।


कमेंट करें