मनोरंजन

FTII चेयरमैन पद पर अनुपम खेर की नियुक्ति गलत, छात्रों ने उठाए सवाल

आरती यादव, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
91
| अक्टूबर 12 , 2017 , 11:39 IST | मुंबई

भारतीय फिल्म एवं टेलीविजन संस्थान (एफटीआईआई) के प्रमुख के पद पर अभिनेता अनुपम खेर की नियुक्त का संस्थान के छात्र संघ ने विरोध किया है। छात्र संघ ने आरोप लगाया है कि ये हितों के टकराव का मामला है, क्योंकि खेर मुंबई में अपना खुद का अभिनय प्रशिक्षण संस्थान चलाते हैं।

एफटीआईआई छात्र संघ (एफएसए) ने साथ ही देश में असहिष्णुता को लेकर बहस के दौरान अनुपम खेर द्वारा दिए गए बयानों और सरकार के कुछ विचारों का प्रचार करने की उनकी कोशिशों पर भी आपत्ति जताई है। हालांकि उसने साफ किया कि जहां तक अनुपम खेर की योग्यता एवं साख की बात है, उन्हें कोई दिक्कत नहीं है।

 एफएसए के अध्यक्ष रॉबिन जॉय ने कहा, 'जहां तक खेर की योग्यता एवं साख की बात है, हमें इससे कोई दिक्कत नहीं है, लेकिन वे मुंबई में अपना खुद का अभिनय प्रशिक्षण संस्थान (एक्टर प्रीपेयर्स) चलाते हैं और अब उन्हें एक सरकारी संस्थान का नेतृत्व करने का जिम्मा सौंपा गया है, जिससे यकीनन हितों का टकराव होता है।'

उन्होंने कहा, 'सवाल ये है कि एक निजी उपक्रम का नेतृत्व करने वाले व्यक्ति को कैसे किसी सरकारी संस्थान का नेतृत्व करने के लिए कहा जा सकता है। ये पूछे जाने पर कि क्या वे खेर की नियुक्ति का उसी तरह से विरोध करेंगे जिस तरह से उनके पूर्ववर्तियों ने 2015 में गजेंद्र चौहान की नियुक्ति को लेकर किया था। इस पर जॉय ने कहा कि वह इस समय कुछ नहीं कह सकते। आगे की कार्रवाई पर फैसला एफएसए की आम सभा की बैठक में किया जाएगा।

FTII-Pune-Film-TV-Courses-Details-Eligibility-Exam-Pattern-Syllabus

अनुपम खेर को एफटीआईआई का चेयरमैन बनाए जाने की खबर के बाद से इसे लेकर सोशल मीडिया पर रिएक्शंस आने शुरू हो गए हैं। सेलेब्स ने उन्हें ट्वीट कर बधाई दी है।  हालांकि अनुपम कई ट्विटर यूजर्स ट्रोल भी कर रहे हैं।  इसी में नाम जुड़ा है राइटर शोभा डे काशोभा ने अपने ट्व‍िटर हैंडल पर पोस्ट करते हुए लिखा है कि चमचागिरी का फल मिल गया। अगला कदम राज्यसभा होगा। पूरी तैयारी है।

सोशल एक्टिविस्ट अंजलि दमनिया ने ट्वीट कर इसे सरकार की ओर से पुरस्कार करार दिया है।

 


कमेंट करें