नेशनल

एक लाख मोदी नहीं, सवा सौ करोड़ लोगों से स्वच्छता का सपना पूरा होगा: मोदी

सतीश वर्मा, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
70
| अक्टूबर 2 , 2017 , 13:18 IST | नई दिल्ली

स्वच्छ भारत मिशन के कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि तीन साल पहले मैं अमेरिका में था, 1 अक्टूबर रात देर से आया और 2 अक्टूबर को झाड़ू लगाना शुरू कर दिया। उस समय मेरी काफी आलोचना की थी, 2 अक्टूबर छुट्टी का दिन होता है लेकिन छुट्टी खराब की थी। मेरा स्वभाव है कि मैं सबकुछ चुपचाप झेलता रहता हूं, धीरे-धीरे अपनी क्षमता बढ़ा रहा हूं।

पीएम ने कहा कि महात्मा जी ने जो कहा वह गलत नहीं हो सकता है, इसलिए इस रास्ते को चुना। हर भारतीय को स्वच्छता पसंद है। पीएम ने कहा कि एक हजार महात्मा गांधी, 1 लाख मोदी भी मिलकर स्वच्छ भारत का सपना पूरा नहीं कर सकते हैं, जब तक जनता साथ नहीं जुड़ेगी तब तक यह पूरा नहीं होगा।

पीएम ने कहा कि कि पांच साल बाद जो गंदगी करेगा उसकी खबर बनेगी। अब ये मिशन किसी सरकार का नहीं है बल्कि पूरे देश का है। हमें स्वराज्य मिला, श्रेष्ठ भारत का मंत्र स्वच्छता है।

आतंक से मुक्ति महात्मा गांधी की राह पर चलकर मिलेगी

मोदी ने आगे कहा, "महात्मा गांधी ने जो विचार दिए, अपने जीवन की कसौटी पर कस करके दिए। महात्मा गांधी प्रकृति के साथ संवाद करना सिखाते थे, प्रकृति के साथ संघर्ष का रास्ता उनको मंजूर नहीं था। महात्मा गांधी का जीवन न्यूनतम कार्बन फुटप्रिंट जीवन था।" बता दें कि न्यूनतम कार्बन फुटप्रिंट का मतलब एनवॉयर्नमेंट को कम नुकसान पहुंचाने से है।
पीएम ने कहा, "मानव जाति को आतंकवाद से मुक्त करना है, तो भी महात्मा गांधी के रास्ते से ही मुक्त किया जा सकता है। उन्होंने कहा, "गांधी के लिए आजादी से भी ज्यादा स्वच्छता का महत्व था। महात्मा गांधी कहा करते थे, भूखे का भगवान तो रोटी होता है, गांधी ने आजादी को मास मूवमेंट में बदला।

मोदी ने कहा, "महात्मा गांधी का ग्राम स्वराज का सपना कितना पीछे टूट गया है। क्या हम हमारे भीतर उसे पुनर्जीवित कर सकते हैं? आइए हम सब महात्मा गांधी की इच्छा को पूरा करने के लिए कुछ कदम चलें। 

शास्त्री को भी याद किया

2 अक्टूबर को पूर्व पीएम लाल बहादुर शास्त्री की भी जयंती है। राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और पीएम ने उन्हें भी श्रद्धांजलि दी। इस मौके पर मोदी ने एक ट्वीट किया। इसमें लिखा, "जवानों एवं किसानों के प्रणेता एवं देश को कुशल नेतृत्व प्रदान करने वाले शास्त्री जी को नमन। लाल बहादुर शास्त्री जी काे उनके जन्मदिन पर याद कर रहा हूं।


कमेंट करें