नेशनल

शाह की टिप्पणी पर राजमोहन का जवाब, बोले- बापू ने सांप्रदायिक जहर वाले सांपों पर जीत हासिल की थी

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
103
| जून 11 , 2017 , 12:36 IST | शिकागो

महात्मा गांधी के बारे में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के द्वारा किए गए अमर्यादित टिप्पणी का जवाब देते हुए गांधीजी के पोते राजमोहन गांधी ने कहा है कि भारत में ब्रिटिश शेरों और सांप्रदायिक जहर वाले सांपों पर जीत हासिल करने वाला शख्स चतुर बनिया से कहीं ज्यादा था।

राजमोहन ने यह टिप्पणी अमित शाह द्वारा गांधी को चतुर बनिया कहने के जवाब में किया। उन्होंने कहा कि गांधी का लक्ष्य आज शाह जैसे लोगों के उलट होता।

Raj 1

गौरतलब है कि राजमोहन गांधी दिनों अमेरिका के शिकागो में हैं। उन्होंने कहा कि,

महात्मा गांधी का लक्ष्य बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से कहीं अलग होता। उनका लक्ष्य शाह जैसे लोगों के उलट आज बेकसूर और कमजोर लोगों का शिकार करने वाली ताकतों को पराजित करना होता

बता दें कि राजमोहन गांधी अमेरिका की इलिनोइस यूनिवर्सिटी में रिसर्च प्रोफेसर हैं।

Gkg

मुझे तो हंसी आती है: गोपालकृष्ण गांधी

महात्मा गांधी के एक और पोते गोपालकृष्ण गांधी ने भी शाह के बयान पर कमेंट किया है। गोपालकृष्ण गांघीं ने कहा है कि,

मुझे तो चतुर बनिया बयान पर हंसी आती है। हालांकि ऐसा कहना ठीक नहीं है, यह एक शरारत है

उधर, इतिहासकार रामचंद्र गुहा ने कहा कि अमित शाह का ये कमेंट ओछा और असभ्य है

अमित शाह ने क्या कहा था

अमित शाह छत्तीसगढ़ के 3 दिनों के दौरे पर थे। दौरे के दूसरे दिन 9 जून को शाह ने रायपुर में कहा था कि,

महात्मा गांधी चतुर बनिया थे, इसीलिए उन्होंने कहा था कि कांग्रेस को खत्म कर दो

कांग्रेस में लोकतंत्र की चर्चा करते हुए शाह ने यह भी कहा था कि सोनिया के बाद अध्यक्ष कौन है ये सबको पता है। मेरे बाद कौन होगा ये किसी को पता नहीं है। कांग्रेस का कोई सिद्धांत नहीं है। उसमें लोकतंत्र भी नहीं है। उस पर परिवारवाद हावी है।

Amit 1

बीजेपी में काम के आधार पर पद तय होता है। मैं 16 साल पहले इस पार्टी से जुड़ा। बूथ अध्यक्ष था। झंडा लगाते-लगाते, डंडा खाते-खाते पार्टी ने राष्ट्रीय अध्यक्ष बना दिया। देश में केवल दो दलों में लोकतंत्र जिंदा है। एक बीजेपी और दूसरा सीपीआई।

शाह यहीं नहीं रुके। उन्होंने कहा कि,

नेहरू की नीतियों में पाश्चात्य देशों का असर था। उसमें देश की सुगंध नहीं थी। देश भटक जाता इसलिए तत्कालीन उद्योग मंत्री श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने सरकार से इस्तीफा देकर जनसंघ की स्थापना की

राष्ट्रपिता का अपमान किया, माफी मांगें शाह: कांग्रेस

उधर, कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि,

गांधी जी ने जातिवाद के खिलाफ लड़ाई लड़ी थी, वे राष्ट्रपिता भी थे। इस बयान से सत्तारूढ़ दल और उसके अध्यक्ष का चरित्र और विचारधारा का पता चलता है। शाह को देश से माफी मांगनी चाहिए क्योंकि इन्होंने स्वतंत्रता सेनानियों, आजादी के आंदोलन और राष्ट्रपिता का अपमान किया है

कांग्रेस प्रवक्ता पीएल पूनिया ने कहा किइससे शर्मनाक बात नहीं हो सकती है। गांधी जी जाति, वर्ग और धर्म से ऊपर थे। विश्व ने इसी वजह से उन्हें सम्मान दिया। बीजेपी के लोग सम्मान का दिखावा करते हैं, लेकिन सच्चाई शाह के बयान से सामने आ गई है।

Surjewala


कमेंट करें