नेशनल

फर्जी था आनंदपाल सिंह का एनकांउटर? परिजन और राजपूत समाज ने उठाए 4 सवाल

सतीश वर्मा, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
503
| जून 27 , 2017 , 21:33 IST 123

राजस्थान के कुख्यात गैंगस्टर आनंदपाल सिंह का एनकाउंटर को लेकर पूरे राजस्थान में बवाल मचा हुआ है। राजपूत समाज के लोगों ने एनकाउंटर को फर्जी बताते हुए इसकी सीबीआई जांच की मांग की है। आनंदपाल की बूढ़ी मां धरने पर बैठते हुए शव लेने से इंकार कर दिया है। गुस्साई भीड़ ने थाने पर हमला कर दिया और पुलिसकर्मियों की पिटाई कर दी।

Anandpal

बता दें कि चुरु के मौलासर में शनिवार की रात पांच लाख के इनामी अनकाउंटर आनंदपाल का एनकाउंटर स्पेशल आपरेशन ग्रुप ने तो कर दिया, लेकिन उसके गांव सांवराद में गुस्साई भीड़ ने पुलिस-प्रशासन पर हमला बोल दिया। भीड़ की नाराजगी इस बात को लेकर थी कि गैंगस्टर आनंदपाल सिंह का फर्जी एनकाउंटर किया गया है।

Ap family

(आनंदपाल सिंह की मां)

एनकाउंटर पर उठे चार सवाल

1. आनंदपाल सिंह के एडवोकेट ने इस एनकाउंटर को फर्जी बताते हुए कहा है कि उसको हरियाणा से पकड़कर लाया गया था और चुरु में मैनेज कर फर्जी एनकाउंटर किया गया है। पुलिस की पूरी कहानी में कई ऐसे झोल हैं, जिस पर बहुत सारे लोगों को भरोसा नहीं हो रहा है। उसके लोकेशन के बारे में उसके भाईयों तक को पता नहीं होता था, तो पकड़ा कैसे गया।

2. आनंदपाल के पास 400 कारतूस बचे थे और वो एके-47 से गोलियां बरसा रहा था फिर भी पुलिस ने उसके पास जाकर पीठ में कैसे गोली मार दी। इस एनकाउंटर में घायल सभी पुलिसकर्मी राजपूत है, ऐसे कैसे हो गया। चूंकि राजपूतों की सहानुभूति उसके साथ रहती थी, कहीं इसलिए तो ऐसा नहीं दिखाया गया। वह सरेंडर करना चाहता था, लेकिन सुरक्षा के साथ।

3. सोहराबुद्दीन एनकाउंटर केस से बरी हुए गुलाबचंद कटारिया बार-बार क्यों कह रहे हैं कि इस एनकाउंटर के बारे में मुझे नहीं पता था। मुझे तो मुख्यमंत्री ने बताया। सोहराबुद्दीन एनकाउंटर केस में 10 साल की सजा काटने के बाद जमानत पर चल रहे आईजी दिनेश एनएम ने तो कहा कि मुझे पता ही नहीं था कि मुठभेड़ आनंदपाल सिंह से चल रही थी।

4. एनकाउंटर करने वाली पुलिस टीम का कहना है कि वे सीढ़ी के जरिए नीचे गए और आईना लगा दिया। उस आईना में देखकर आनंदपाल सिंह को गोली मारी। यह बात लोगों के गले नहीं उतर रही है। उनका कहना है कि रात के 10.30 बजे आईना में देखकर गोली मारना कितना आसान होगा।

 


कमेंट करें