नेशनल

गौरी लंकेश हत्याकांड: SIT के हाथ लगे अहम सुराग, जल्द होगा हत्यारों का खुलासा

श्वेता बाजपेई, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
100
| अक्टूबर 3 , 2017 , 17:37 IST | Browse By Tags gauri lankesh

कर्नाटक के गृह मंत्री रामलिंगा रेड्डी ने दावा किया है कि वरिष्ठ कन्नड़ पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या की जांच कर रही विशेष जांच टीम (एसआईटी) को कुछ सुराग मिले हैं और वह साक्ष्य जुटाने में जुटी हुई है। उन्होंने कहा कि यह पता चल गया है कि इसके पीछे कौन लोग थे। लेकिन इस बारे में और ठोस सबूत जुटाए जा रहे हैं। गौरी लंकेश की पांच सितंबर को उनके घर में अज्ञात लोगों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी।

मीडिया से रूबरू रामलिंगा रेड्डी ने कहा, 'हमारे हाथ कुछ सुराग लगे हैं, लेकिन हम इस बारे में मीडिया से ज्यादा कुछ नहीं बता सकते, क्योंकि अभी सुराग से जुड़े सुबूत एकत्र किए जा रहे हैं। बिना पुख्ता सबूतों के हम अदालत में आरोपपत्र दाखिल नहीं कर सकते। इसी कारण हम पक्के साक्ष्य जुटाने की कोशिश कर रहे हैं। एसआइटी इसी दिशा में काम कर रही है।'

मंत्री ने मामले में कुछ सुराग जुटाने के बारे में नौ सितंबर को भी इसी तरह का दावा किया था। उन्होंने दोषियों को जल्द पकड़ने की आशा जताई थी। देश भर में गौरी ही निर्मम हत्या के बाद विरोध प्रदर्शन किए जा रहे हैं और प्रगतिशील लोगों समेत तमाम राजनीतिक दलों ने जल्द से जल्द गौरी लंकेश के हत्याओं को पकड़ने की मांग की है।

गौरी लंकेश हत्याकांड की जांच करने के लिए कर्नाटक सरकार ने आईजीपी (खुफिया) बीके सिंह के नेतृत्व में एक एसआईटी गठित की थी। राज्य सरकार ने गौरी की हत्या से जुड़ा सुराग देने वाले व्यक्ति को 10 लाख रूपये का इनाम देने की घोषणा की थी।

गौरतलब है कि कट्टरपंथ के खिलाफ लिखने वाली गौरी लंकेश की बेंगलुरू में उस समय हत्या कर दी गई थी जब वह रात को अपने घर के अंदर जा रही थीं। हमलावरों ने उनको घर के बाहर ही गेट पर गोली मार दी थी। हमलावर ने उनके सीने पर गोली मारी दी थी। वे बाइक से आये थे और मुंह छिपाने के लिए उसने हेलमेट पहन रखा था।


कमेंट करें