अभी-अभी

अंडरवर्ल्ड डॉन अब्दुल लतीफ के घर छापा मारने वाली गीता जौहरी बनीं गुजरात की नई डीजीपी

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
219
| अप्रैल 4 , 2017 , 18:20 IST | अहमदाबाद

गुजरात में पीपी पांडे के डीजीपी के रूप में कार्य मुक्‍त होने के बाद उनकी जगह वरिष्‍ठ आईपीएस अधिकारी गीता जौहरी को नया डीजीपी नियुक्‍त किया गया है। इसके साथ ही गीता गुजरात की पहली महिला डीजीपी बन गई हैं। गुजरात के गृह मंत्री प्रदीप सिंह जडेजा ने सोमवार को कहा कि अपने खिलाफ केस के कारण मौजूदा डीजीपी पीपी पांडे ने पद छोड़ने का फैसला किया।

Geeta-johri

बता दें कि इशरत जहां मामले में आरोपी रहे गुजरात के पूर्व कार्यकारी डीजीपी पीपी पांडे ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। गुजरात सरकार ने उन्हें 30 अप्रैल तक एक्सटेंशन देते हुए यह पद सौंपा था, लेकिन पूर्व आईपीएस अधिकारी जूलियो रिबेरो ने इसके खिलाफ सुप्रीम में याचिका दायर की थी।

Pandey-kXg--621x414@LiveMint

सोमवार को मामले की सुनवाई के दौरान पद छोड़ने के पांडे के प्रस्ताव को मानते हुए कोर्ट ने उन्हें पदमुक्त करने का आदेश दिया। इसी के साथ कोर्ट ने रिबेरो की याचिका का निपटारा कर दिया।

कौन हैं गीता जौहरी 

1982 बैच की आईपीएस ऑफिसर गीता जौहरी वर्तमान में गुजरात पुलिस हाउसिंग कॉरपोरेशन, गांधीनगर की मैनेजिंग डायरेक्टर हैं। 2005 में हुए सोहराबुद्दीन शेख और उसकी पत्नी तथा 2006 में तुलसी राम प्रजापति एनकाउंटर जांच प्रकरण में अपनी भूमिका को लेकर वह विवादास्पद रह चुकी हैं। वह 2006-07 के दौरान सोहराबुद्दीन शेख एनकाउंटर मामले में पर्यवेक्षी अधिकारी रह चुकी हैं। 1990 में जौहरी उस समय पहली बार लाइमलाइट में आईं थी जब गुजरात के अंडरवर्ल्ड डॉन अब्दुल लतीफ के दरियापुर जिले स्थित घर पर रेड मारी थी और उसके शूटर शरीफ खान को गिरफ्तार किया था।  हालांकि लतीफ भागने में कामयाब रहा था।

Geetha-johri-from-taking-on-fellow-ips-vanzara-to-becoming-dgp

 

गीता जौहरी के अलावा एडीजीपी शिवानंद झा और एडीजीपी तीर्थराज (लॉ एंड ऑर्डर) के नाम भी दावेदारों में शामिल थे। शिवानंद झा 1983 और तीरथ राज 1984 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं। इस लिहाज से देखें तो ये दोनों ही गीता जौहरी से जूनियर हैं।


कमेंट करें