नेशनल

गोरखालैंड की मांग कर रहे GJM कार्यकर्ता की मौत के बाद भड़की हिंसा, सेना तैनात

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
159
| जुलाई 8 , 2017 , 19:44 IST | दार्जिलिंग

पृथक गोरखालैंड राज्य की मांग को लेकर कई दिनों से सुलग रहा पश्चिम बंगाल के उत्तरी पर्वतीय इलाके में शनिवार को फिर से हिंसा भड़क उठी, जिसके बाद सेना को तैनात करना पड़ा। पुलिस पर गोरखालैंड के एक कार्यकर्ता को गोली मारने का आरोप लगाते हुए गोरखालैंड जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएम) के समर्थकों ने शनिवार को जमकर उत्पात किया और पुलिस की एक सीमा चौकी तथा सरकारी कार्यालयों पर हमला कर दिया।

आपको बता दें कि इससे पहले भी गोरखा जनमुक्ति मोर्चा ने आरोप लगाया था कि 17 जून को भी उनके कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने गोलियां की थी, जिसमें उनके तीन कार्यकर्ताओं की मौत हो गई थी। गोरखा जनमुक्ति मोर्चा ने आरोप लगाया था कि प्रदर्शन कर रहे उनके कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने सेंट जॉसेफ कॉलेज के पास गोलियां चलानी शुरू कर दी थी।

हालांकि पुलिस ने गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के इन सभी आरोपों का खंडन करते हुए कहा है कि पुलिस ने किसी भी कार्यकर्ता पर गोली नहीं चलाई है। 18 जून को ममता बनर्जी ने भी सभी आरोपों को गलत बताया था।

गुरुवार को छह घंटे तक चली एक बैठक में, 15 जून से लगातार जारी बंद को लेकर गहन विचार-विमर्श किया गया जिसके बाद इसे जारी रखने का फैसला किया गया था। बंद की वजह से कई जगहों पर खाद्य आपूर्ति बाधित हुई। जीजेएम कार्यकर्ताओं और गैर-सरकारी संगठनों ने लोगों के बीच खाद्य सामग्री का वितरण किया। दवा दुकानों को छोड़कर बाकी सभी दुकानें, स्कूल व कॉलेज बंद रहे। पुलिस और सुरक्षा बल लगातार सड़कों पर गश्त लगा रहे हैं।


कमेंट करें