नेशनल

धर्मेंद्र प्रधान का बड़ा बयान, पेट्रोल-डीजल को GST के दायरे में लाने पर हो रहा विचार

सतीश वर्मा, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
235
| अक्टूबर 1 , 2017 , 09:58 IST | नई दिल्ली

केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने पेट्रोलियम उत्पाद को जीएसटी (गुड्स और सर्विस टौक्स) के दायरे में लाने को लेकर कहा कि ये फैसला जीएसटी कमिटी करेगी। उन्होंने कहा कि पेट्रोलियम पदार्थों को जीएसटी के दायरे में लाने से उपभोक्ताओं को ज़्यादा लाभ मिलेगा। केंद्रीय मंत्री प्रधान शनिवार को दशहरा के मौके पर पंजाब पहुंचे थे। जिसके बाद मीडिया से बात करते हुए उन्होंने ये बात कही।

Pradhan

धीरे-धीरे पेट्रोलियम उत्पादों के दाम स्थिर होंगे

उन्होंने कहा, 'धीरे-धीरे पेट्रोलियम उत्पादों के दाम स्थिर होंगे। राज्य सराकर और केंद्र सरकार की मदद से इस मामले को जीएसटी काउंसिल में ले जाया जाएगा। जिससे की उपभोक्ताओं को ज़्यादा से ज़्यादा लाभ मिल सके। प्रधान ने कहा, 'पीएम मोदी के नेतृत्व में देश निर्णायक मोड़ की तरफ पहुंच रहा है। भ्रष्टाचार के ख़िलाफ गंभीर लड़ाई शुरू की गई है। जो रावण से लड़ने जैसा ही है। भारत विकासशील देश है, आगे और भी विकास होगा।

पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमत को ले सरकार की किरकिरी

ज़ाहिर है अंतर्राष्ट्रीय बाज़ार में कच्चे तेल के दाम में भारी गिरावट के बावजूद जिस तरह से देश के अंदर मंहगे दामों पर डीजल और पेट्रोल बेचे जा रहे हैं उसको लेकर मोदी सरकार की हाल में बहुत किरकिरी हुई है। सबने इस मुद्दे को काफी ज़ोर-शोर से उठाया कि जब बाकी सभी सामान पर जीएसटी लागू है तो पेट्रोलियम पदार्थों पर ये क्यों नहीं लागू किया जाता।

 


कमेंट करें