नेशनल

एक पुजारी के लिए बना पोलिंग बूथ लेकिन हजारों परिवार मतदान से वंचित

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
86
| नवंबर 7 , 2017 , 15:03 IST | अहमदाबाद

गुजरात में विधानसभा चुनाव को लेकर सभी पार्टियों के साथ-साथ चुनाव आयोग और प्रशासन ने भी कमर कस ली है। इस बीच गुजरात के गिर अभ्यारण्य में एक पोलिंग बूथ सुर्खियों में बना हुआ है। इसका कारण है वहां केवल एक वोटर का होना।

चुनाव आयोग ने गिर अभ्यारण्य स्थित प्राचीनतम मंदिर के एक पुजारी के लिए पोलिंग बूथ की व्यवस्था की है। लेकिन, चुनाव आयोग ने कच्छ के रेगिस्तान में रह कर नमक बनाने वाले मजदूरों के लिए पोलिंग बूथ बनाने से साफ इन्कार कर दिया है। आपको बता दें कि यहां पर करीब 6800 परिवार रहते हैं।

लेकिन इस बुजुर्ग महंत के लिए चुनाव आयोग हर बार चुनाव के दौरान अलग से पोलिंग बूथ की व्यवस्था करता है। जहां केवल एक वोट के लिए इतनी बड़ी व्यवस्था की जा रही है, वहीं पाटण, कच्छ, सुरेन्द्रनगर और मोबरी जिले के 207 गांवों के अगियारों के 6800 परिवारों के लिए वोट डालने की कोई व्यवस्था नहीं की गई है। ये परिवार कच्छ के रेगिस्तान में 8 माह रहकर मजदूरी करते हैं। सितंबर से अप्रैल महीने तक अगरिया परिवार रेगिस्तान में रहता है।

Media1xz0polling_booth

इस बारे में जनसंपर्क अधिकारी पहल संस्था के अध्यक्ष पंक्ति जोग बताया कि अगरिया परिवारों के वोट डलवाने के लिए ट्रांसपोर्ट सुविधा देने तथा मोबाइल पोलिंग बूथ की व्यवस्था करने के लिए राज्य चुनाव आयोग से मांग की गई थी। लेकिन, चुनाव आयोग ने यह कहते हुए इन्कार कर दिया है कि इस प्रकार की सुविधा करने के लिए कोई प्रावधान नहीं है।

टैग्स: polling booth|Forest

कमेंट करें