नेशनल

गुलबर्ग केस: जाकिया जाफरी को HC का झटका, मोदी की क्लीन चिट रहेगी बरकरार

ललिता सेन, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
46
| अक्टूबर 5 , 2017 , 13:11 IST | अहमदाबाद

गुजरात में गुलबर्ग सोसायटी दंगों के मामले में नरेंद्र मोदी और अमित शाह को मिली क्लीनचिट को चुनौती देनी वाली पिटीशन को गुजरात हाईकोर्ट ने खारिज कर दिया है। गुजरात हाईकोर्ट ने साफ किया है कि गुजरात दंगों की दोबारा जांच नहीं होगी। ये पिटीशन इन दंगों में मारे गए कांग्रेस के पूर्व सांसद एहसान जाफरी की पत्नी जकिया जाफरी की तरफ से दायर की गई थी।

जकिया जाफरी की याचिका में 2002 में गोधरा कांड के बाद हुए दंगों के संबंध में तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी और अन्य को विशेष जांच दल द्वारा दी गई क्लीन चिट को बरकरार रखने के निचली अदालत के फैसले को चुनौती दी गई थी।

Zakia

जकिया जाफरी और सामाजिक कार्यकर्ता तीस्ता सीतलवाड़ के एनजीओ 'सिटिजन फार जस्टिस एंड पीस' ने दंगे में आपराधिक साजिश के आरोपों के मामले में नरेन्द्र मोदी और अन्य को SIT की क्लीन चिट के खिलाफ ये आपराधिक पुनर्विचार याचिका दायर की थी।

आपको बता दें कि गोधरा कांड के बाद हुए दंगों में एक हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी और बड़ी संख्या में लोग बेघर हुए थे। इस मामले में दिसंबर 2013 में अहमदाबाद कोर्ट से नरेन्द्र मोदी समेत 56 आरोपियों को क्लीनचिट दे दी गई थी।

Gulberg-society

गोधरा कांड के अगले दिन यानि 28 फरवरी, 2002 को गुजरात के गुलबर्ग सोसायटी में भीड़ ने जाफरी समेत करीब 69 लोगों की हत्या कर दी थी। 39 लोगों के शव गुलबर्ग सोसाइटी में मिले थे।


कमेंट करें