नेशनल

रेवाड़ी की बच्चियों के आगे झुकी हरियाणा सरकार, स्कूल अपग्रेडेशन की मांग मानी

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
136
| मई 17 , 2017 , 13:39 IST | रेवाड़ी

हरियाणा में रेवाड़ी के गोठड़ा टप्पा गांव की बेटियों की मांग को राज्य सरकार ने मान लिया है। सरकार ने गोठड़ा टप्पा गांव के स्कूल को 12वीं तक करने का आदेश दिया है, लेकिन अनशन पर बैठी लड़कियों ने सरकार से लिखित में भरोसा मांगा है। लड़कियों की मांग है कि सरकार को कोई नुमाइंदा आए, तभी वो अनशन तोड़ेंगीं।

पिछले एक हफ्ते से भूखे-प्यासे अनशन पर बैठी हैं। गांव की लड़कियां जब पढने दूसरे गांव जाती हैं तो मनचले जीना मुश्किल कर देते हैं। इन लड़कियों की मांग है कि सरकार इन्हीं के गांव में बारहवीं तक स्कूल बना दें। इस दौरान हफ्ते भर से अनशन पर बैठी भूखी प्यासी एक लड़की की तबीयत कल बिगड़ गई। जिसे तुरंत अस्पताल पहुंचाया गया, लेकिन एंबुलेंस में नहीं बल्कि मोटरसाइकिल पर वो इसलिए क्योंकि ये लोग कोई भी सरकारी मदद नहीं लेना चाहतीं।

10 मई से अनशन पर बैठी हैं छात्राएं रेवाड़ी के सरकारी स्कूल की छात्रा पूजा का कहना है,

हम 10 मई से अनशन पर बैठे हैं, हमारी मांग है कि स्कूल 12वीं तक हो जाए लेकिन इस ओर कोई नहीं ध्यान नहीं दे रहा है।

 

छात्राओं को स्कूल जाते वक्त मनचले छेड़ते हैं छात्राओं का आरोप है कि चार किलोमीटर दूर जिस स्कूल में पढ़ने जाना पड़ता है उसके रास्ते में मनचले छेड़ते हैं। इन छात्राओं का कहना है कि जब तक शिक्षा मंत्री आकर आश्वासन नहीं देते ये अन्न नहीं खाएंगी। इसीलिए एबीपी न्यूज ने रोहतक में शिक्षा मंत्री रामविलास शर्मा से पूछा कि क्या आप रेवाड़ी तक जाकर इन बच्चियों का अनशन भी नहीं तुड़वा सकते हैं ? हरियाणा सरकार ने छात्राओं की मांग स्वीकार की रामबिलास शर्मा ने कहा कि उनकी जो मांग है वो हमने स्वीकार कर ली हैं। आज से या कल से बहनें वहां से उठ जाएंगीं। इस बीच हमने ये जानकारी भी जुटाई कि आखिर क्या कारण है कि बच्चियां जिस स्कूल को दसवीं से बारहवीं का करने की मांग उठा रही हैं, उस पर सिस्टम इतना लुंज पुंज रवैया अख्तियार किए हुए हैं। तो पता चला कि इसके पीछे छात्राओं की संख्या को लेकर नियमों की दीवार पता चली।

Rewari-1_051717121029


कमेंट करें