नेशनल

दिल्ली में थाने में हेड कॉन्स्टेबल की हत्या, पुलिस वालों पर ही लगे आरोप

श्वेता बाजपेई, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
97
| सितंबर 15 , 2017 , 10:39 IST | नई दिल्ली

राजधानी में रोहिणी इलाके में एक थाने के अंदर हेड कांस्टेबल राजेश सैनी की बुधवार रात गोली मारकर हत्या कर दी गई। शुरुआत में पुलिस इसे खुदखुशी बताती रही लेकिन बाद में हत्या की धाराओं में केस दर्ज करके जांच क्राइम ब्रांच को सौंप दी। वहीँ हत्या को लेकर परिजनों ने गंभीर आरोप लगाए हैं। सैनी की पत्नी ने कहा कि मेरे पति को दौड़ा-दौड़ा कर थाने के अंदर उनके ही साथियों ने मार डाला। राजेश सैनी की पत्नी ने आरोप लगाते हुए कहा कि 20 दिनों से मेरे पति मुझसे कह रहे थे कि एसएचओ उनके साथ ठीक व्यवहार नहीं करते हैं। मैं इस थाने से ड्यूटी बदलवाना चाहता हूं। थाने परिसर में उनकी दूसरे सिपाहियों से झड़प हुई तो पूरे थाने में काम कर रहे पुलिस कर्मियों ने बीचबचाव करने की कोशिश क्यों नहीं की। मेरे पति को षड्यंत्र के तहत मारा गया है।

उन्होंने बताया कि बुधवार रात 10.45 बजे थाने से मुझे फोन आया कि मेरे पति की हालत गंभीर हो गई है और उन्हें अस्पताल ले जाया गया है।करीब 11.10 बजे परिवार अंबेडकर अस्पताल पहुंचा तो वहां उन्हें राजेश की बॉडी सफेद कपड़े से ढंकी हुई मिली। पत्नी ने जब कपड़ा हटाया तो पाया कि राजेश के दोनों हाथों, छाती में चोटों के निशान हैं। हाथों की उंगलियों में नील पड़ा हुआ नजर आया और दोनों अंगूठे में स्याही लगी हुई थी।

पुलिस कर रही परिजनों को गुमराह-

उनके बड़े बेटे नितिन सैनी ने बताया कि अस्पताल में लेडी इंस्पेक्टर ने उनसे पूछा था कि क्या आपके पिता गुस्से में रहते थे, क्योंकि उनका मूड रात को खराब था, उनकी उनके साथियों के साथ झड़प भी हुई थी। जब यह बात डीसीपी को बताई गई तो वह लेडी अफसर मुकर गई।

थाने के अंदर रात करीब 10:30 बजे गोली चलने की आवाज आसपास के दुकानदारों और लोगों ने भी सुनी। परिजनों ने थाने में पूछा तो किसी ने भी गोली चलने या आवाज सुनने की बात नहीं कही। पुलिस ने परिजनों को बताया था कि राजेश ने सर्विस रिवाल्वर से गोली मारी थी। परिजनों को बाद में पता चला कि उस रात राजेश ने रिवॉल्वर इश्यू ही नहीं कराई थी। यह बात अफसरों को बताई गई तो पुलिस बयान बदलते हुए कॉन्स्टेबल की पिस्टल छीनकर गोली मारने की बात कहने लगी। इतना ही नहीं सीसीटीवी कैमरे के बारे में पूछा गया तो मुझसे कह दिया कि यह काम नहीं करते यह बच्चों को डराने के लिए लगाए गए हैं। वहीं, राजेश सैनी की पत्नी राजेश ने आरोप लगाते हुए कहा कि उनके साथ काम करने वाले हेड कांस्टेबल सत्यवान, कांस्टेबल दीपेंद्र और कांस्टेबल हितेश ने ही मेरे पति को मारा है। सैनी की पत्नी ने यह भी कहा की केस दर्ज होने से पहले पुलिस का कहना था कि राजेश ने एक अन्य कांस्टेबल से रिवॉल्वर लेकर खुद को गोली मारी थी। महज 15 सेकंड के अंदर ही उन्होंने खुद को गोली मार दी। लेकिन वे दाएं हाथ से लिखते हैं और उनके गर्दन के नीचे बांईं तरफ गोली आर-पार हुई है। दाएं हाथ से लिखने वाला शख्स खुद कैसे अपने हाथ से बांईं तरफ गोली मार सकता है?


कमेंट करें