नेशनल

हिन्दूवादी नेता बोलीं, गौरी लंकेश जैसा हाल न हो, इसलिए मृत्युंजय जाप कराओ

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
256
| सितंबर 11 , 2017 , 13:19 IST | केरल

हिंदुत्ववादी राजनीति के खिलाफ खुलकर विचार जाहिर करने वाली वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश की मंगलवार को बेंगलुरु में गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी। हत्या के पीछे किसका हाथ है इसकी जांच चल रही है। देशभर में हत्या के विरोध में प्रदर्शन हो रहे हैं। इसी बीच केरल के एक हिंदूवादी नेता का बयान सामने आया हैं। दरअसल केरल हिंदू ऐक्य वेदी के राज्य प्रमुख केपी शशिकला टीचर ने सेकुलर लेखकों को महामृत्युंजय जाप कराने की सलाह दी है ताकि उनका हश्र गौरी लंकेश जैसा ना हो। ऐक्य वेदी नाम का यह संगठन आरएसएस का समर्थन करता हैं। 

ऐक्य वेदी के कार्यक्रम में बोलते हुए शशिकला ने कहा कि आरएसएस उन लोगों को मारना नहीं चाहता जो उसके विरोधी हैं क्योंकि वो प्रतिरोध से ऊर्जा लेकर ही आगे बढ़ता है। मैं सेकुलर लेखकों से कहना चाहूंगी कि अगर वो लंबा जीवन चाहते हैं तो उन्हें मत्युंजय जाप कराना चाहिए नहीं तो आप भी गौरी लंकेश की तरह शिकार बनोगे।  शशिकला ने कहा कि हिंदुत्व के विरोध के लिए कृत्रिम वजहें तैयार की जा रही हैं। संघ परिवार का विरोध होना चाहिए विरोध के कारण ही एक और खत्म हुआ हैं।

उसका क्या नाम था, गौरी। गौरी लंकेश अब वो सब कह रहे हैं कि ये आरएसएस का काम है। आरोपी अब तक पकडे नहीं गए हैं कांग्रेस को इस पर कड़ा कदम उठाना चाहिए। उन्होंने कहा जो लेखक आरएसएस का विरोध करते है उन्हें ही लेखक माना जाता है। क्या आप ऐसे लेखक का नाम बता सकते हैं जो आरएसएस का विरोधी न हो? ऐसा कोई है जो आरएसएस के विरोध में न लिखता हो? जो आरएसएस के खिलाफ लिखता है उसे ही पैसा, पुरस्कार और पहचान मिलता है।

Under

उन्होंने कहा कि अगर आरएसएस मारना शुरू कर दे तो लेखकों का कुनबा नहीं बचेगा। जब आप आरएसएस के खिलाफ लिखना शुरू कर देते हो तो संघ परिवार समझ जाता है कि वो विकास कर रहा है। शशिकला की इस तीखे भाषण पर केरल के मुख्यमंत्री पिनारायी विजयन ने कहा कि, ऐसी प्रवृत्तियों से हमारा समाज व्यथित होता है। वहीं कांग्रेस के नेता वीडी सतीशन ने कहा कि, उन्होंने केवल सेकुलर लेखकों को नहीं बल्कि देश के सेकुलर मूल्यों को चुनौती दी है।


कमेंट करें