नेशनल

प्रशांत भूषण का विवादित बयान, आजादी की लड़ाई में हिंदू संगठनों ने कुछ नहीं किया

श्वेता बाजपेई, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
243
| जुलाई 24 , 2017 , 15:58 IST | नई दिल्ली

सुप्रीम कोर्ट के मशहूर वकील और स्वराज अभियान के फाउंडर मेंबर प्रशांत भूषण एक बार फिर अपने एक ट्वीट को लेकर विवादों में फंस गए है। शुक्रवार शाम प्रशांत भूषण ने एक ट्वीट किया जिसके बाद वे सोशल मीडिया पर काफी ट्रोल हो रहे है।

प्रशांत भूषण ने कहा है कि आजादी की लड़ाई में जितने भी देशभक्ति नारे और गीत थे उनमें से लगभग सारे मुसलमानों द्वारा लिखे गए थे। प्रशांत भूषण ने 23 जुलाई को स्वतंत्रता सेनानी चंद्रशेखर आजाद की जयंती पर ट्वीट करते हुए ये बयान दिया है। आम आदमी पार्टी के पूर्व सदस्य प्रशांत भूषण ने हिंदूवादी संगठनों पर हमला करते हुए ये भी लिखा कि आजादी की लड़ाई में इन हिंदूवादी संगठनों ने कुछ नहीं किया था।

प्रशांत भूषण के इस ट्वीट पर लोगों ने उन्हें स्वतंत्रता संग्राम पर मजहबी रंग चढ़ाने का आरोप लगाते हुए जमकर उल्टा-सीधा सुनाया। प्रशांत भूषण ने अपने इस ट्वीट में बकायदा लोगों के नाम लिखते हुए बताया कि किसने कौन सा नारा दिया था।

प्रशांत भूषण ने सुरैया तैयबजी का भी जिक्र करते हुए लिखा कि देश के तिरंगे को शक्ल देने में एक मुसलमान का हाथ था।

प्रशांत भूषण के इस ट्वीट पर यूजर्स ने कमेंट करते हुए कुछ नारे लिखे और बताया कि इनको हिंदुओं ने लिखा था। वहीं कुछ यूजर्स इस तरह से मजहब को देशभक्ति से जोड़ने को गलत भी बताया।

कुछ यूजर्स ने तो ये तक कह दिया कि जबसे अरविंद केजरीवाल ने तुम्हें अपनी पार्टी से निकाला है तब से तुम पागल हो गए हो। यूजर्स ने प्रशांत भूषण के इस ट्वीट पर जमकर भला-बुरा सुनाया।

 


कमेंट करें