नेशनल

राम रहीम की सजा उम्रकैद में बदलने पर होगी सुनवाई, कोर्ट ने CBI को भेजा नोटिस

अर्चित गुप्ता | 0
185
| अक्टूबर 9 , 2017 , 13:16 IST | नई दिल्ली

साध्वियों के साथ रेप मामले में पूर्व डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम की मुश्किलें बढ़ती हुई नजर आ रही है। दरअसल, यौन शोषण का शिकार हुई दो साध्वियों ने हाईकोर्ट में अपील दायर की थी कि राम रहीम की सजा को आजीवन कारावास में तब्दील किया जाए। इस याचिका को स्वीकार करते हुए हाईकोर्ट ने आजीवन कारावास के लिए सीबीआई को नोटिस जारी किया है।

राम रहीम की याचिका हुई स्वीकार: 

राम रहीम ने CBI अदालत द्वारा सुनाई गई सजा को पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट में चुनौती देते हुए सजा को रद्द करने की मांग करते हुए कोर्ट में याचिका दायर की थी। जिस पर सोमवार को हाईकोर्ट ने इसे मंजूर करते हुए सीबीआई को नोटिस जारी किया है।

राम रहीम ने पोटेंसी टेस्ट नहीं कराने का लगाया आरोप:

राम रहीम ने याचिका में कहा था कि उसके खिलाफ दर्ज रेप के सभी मामले फर्जी हैं। उसका सेक्सुअल पोटेंसी टेस्ट नहीं करवाया गया। इससे यह साबित होता कि वह शारीरिक संबंध नहीं बना सकता है। उसने दोनों साध्वियों के 6 साल बाद हलफनामा दर्ज होने पर सवाल उठाए हैं। गुमनाम पत्र लिखने वाली साध्वी के सामने न आने की भी बात कही है।

कोर्ट ने रेयरेस्ट ऑफ दी रेयर केस माना:

बताते चलें कि सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने राम रहीम को 20 साल की सजा सुना चुकी है। कोर्ट ने दो साध्वियों से रेप केस में अलग-अलग 10-10 साल की सजा सुनाई थी। इसके अलावा 15-15 लाख रुपये दोनों मामलों में जुर्माना भी लगाया था। कोर्ट ने राम रहीम पर सख्त टिप्पणी करते हुए अपराध को रेयरेस्ट ऑफ दी रेयर मानते हुए सजा दी थी दोनों साध्वियों के सामने आने के बाद राम रहीम के कारनामे दुनिया के सामने आए और इसका खुलासा हुआ।


कमेंट करें