राजनीति

ताजमहल गुलामी की निशानी, यूपी सरकार इसे गिराए, मैं भी दूंगा साथ: आज़म ख़ान

श्वेता बाजपेई, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
10808
| अक्टूबर 4 , 2017 , 13:38 IST | नई दिल्ली

उत्तर प्रदेश में ताजमहल को लेकर राजनीति गरमा गई है। टूरिस्ट बुकलेट से ताजमहल का नाम गायब होने के मुद्दे पर सपा के वरिष्ठ नेता आजम खान ने योगी सरकार पर कटाक्ष किया है।

आजम खां ने योगी सरकार पर तंज कसते हुए ताजमहल को गुलामी की निशानी बताया और कहा कि प्रदेश सरकार को इसे गिरा देना चाहिए, यदि सरकार ऐसा करती है तो मैं साथ दूंगा।

अपने तंज को आगे बढ़ाते हुए आजम ने इसके साथ ही कुतुबमीनार, लालकिला, आगरा का किला, संसद भवन, राष्ट्रपति भवन को भी गुलामी की निशानी बताया है।

दरअसल उत्तर प्रदेश पर्यटन विभाग के बुकलेट से ताजमहल नदारद है। इस पर एसपी नेता आजम खान ने कहा, 'यह अच्छी पहल है कि बुकलेट से ताजमहल गायब है। कुतुब मीनार, लाल किला, संसद भवन ये सब गुलामी की निशानियां हैं।' अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए उन्होंने कहा कि एक जमाने में ताजमहल को गिराने की बात चली थी। ताजमहल को गिराना चाहिए। योगी जी इस तरह का निर्णय लेंगे, तो हमारा उन्हें सहयोग रहेगा।

मुख्यमंत्री के पांच दिन गोरखपुर में रहने पर आजम खां ने कहा कि देश का दूसरे नंबर का बादशाह इतना धार्मिक हो ये अच्छी बात है। योगी जी वहीं से सरकार चलाएं तो वह ज्यादा पवित्र सरकार होगी।

इससे पहले ताजमहल के विवाद पर यूपी की कैबिनेट मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि ताजमहल हमारी संस्कृति, धरोहर और प्राथमिकता है।


कमेंट करें

Kishor

Taj Mahal Desh ki neeshani