बिज़नेस

इन्वेस्टमेंट के लिए भारत पहली बार टॉप-5 में, जापान को किया पीछे

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
103
| जनवरी 23 , 2018 , 20:02 IST

ग्लोबल कंसल्टेंसी फर्म प्राइसवाटर हाउस एंड कूपर्स (PwC) के एक सर्वे में भारत को इन्वेस्टमेंट के लिए 5वां सबसे बड़ा मार्केट बताया गया है। बता दें अमेरिका इस लिस्ट में इन्वेस्टर्स की पहली पसंद है जबकि भारत पहली बार 5वां सबसे पसंदीदा मार्केट बनकर सामने आया है। 

जानकारी के लिए बता दें दुनियाभर के टॉप CEOs के बीच कराए गए इस सर्वे में भारत पहली बार टॉप-5 देशों में शामिल हुआ है। इस मामले में इंडिया ने जापान को पीछे छोड़ दिया है। जबकि चीन इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर है। ये सर्वे अगस्त से नवंबर 2017 के दौरान दुनियाभर के 85 देशों के CEOs के बीच किया गया है।

बता दें दुनियाभर के करीब 46% CEOs अमेरिका को ग्रोथ के लिए सबसे खास देश मानते हैं।चीन को 33% CEOs इन्वेस्टमेंट के लिए अहम मानते हैं। तीसरे नंबर पर जर्मनी (20%) और चौथे पर ब्रिटेन (15%) इन्वेस्टर्स की पसंद है। इन्वेस्टमेंट के लिहाज से भारत पर 9% CEOs ने भरोसा जताया है। जबकि इस मामले में जापान भारत से भी कम 8% इन्वेस्टर्स की पसंद है।

PwC इंडिया के चेयरमैन श्यामल मुखर्जी ने देश में हो रहे स्ट्रक्चरल रिफॉर्म्स को बहुत अच्छा बताते हुए हो रहे बदलावों की तारीफ की। उन्होंने कहा कि “हमारे बहुत से क्लाइंट्स ग्रोथ को लेकर सकारात्मक हैं। हमारी सरकार ने इन्फ्रास्ट्रक्चर, मैन्युफैक्चरिंग और स्किलिंग के एरिया में अच्छा काम किया है। हालांकि, साइबर-सिक्युरिटी और क्लाइमेट चेंज क्लाइंट्स पर बड़ा असर डालते हैं।

इस सर्वे के मुताबिक, 54% CEOs इस साल कंपनियों में लोगों को बढ़ाने का प्लान बना रहे हैं। बता दें सिर्फ 18% CEOs की योजना स्टाफ कम करने की है। इस हिसाब से जिन सेक्टर्स में सबसे ज्यादा लोगों की डिमांड है, उनमें हेल्थकेयर 71% के साथ सबसे ऊपर है। फिर टेक्नोलॉजी (70%), बिजनेस सर्विसेज (67%), कम्युनिकेशन्स (60%) और हॉस्पिटैलिटी (59%) के दायरें में आते हैं।

ग्लोबल इकोनॉमी में आई पॉजिटिविटी के बावजूद 40% CEOs जियोपॉलिटिकल अनसर्टेनिटी को लेकर परेशान हैं। इतना ही न यही वह 41% साइबर खतरों को लेकर भी परेशान हैं। स्किल्स और पॉपुलिज्म को लेकर कंपनियों में चिंता बनी हुई है। उन्होंने आगे कहा कि इस सर्वे में आतंकवाद को भी ग्रोथ के लिए एक बड़ा खतरा बताया है। 


कमेंट करें