नेशनल

IS-तालिबान को पीछे छोड़ सबसे खतरनाक हो जाएंगे नक्सली! बहाते हैं सबसे ज्यादा खून

अनुराग गुप्ता, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
210
| जुलाई 23 , 2017 , 11:54 IST | नई दिल्ली

आतंकवाद एक ऐसी समस्या है, जिसनें विश्व के हर एक देश तबाह करके रखा है। आतंकवाद के चलते भारत देश सर्वाधिक पीड़ित देशों की सूची में शामिल हो गया। हालांकि भारत अफगानिस्तान और इराक के बाद इस सूची में विराजमान है। भारत लम्बे वक्त से आतंकवाद का शिकार हो रहा है।

Naxal-yogi

भारत में लगातार बढ़ते आतंकी हमलों की वजह से आतंकी सूची से पाकिस्तान दूसरे स्थान से खिसक गया है और पाकिस्तान की जगह अब भारत तीसरे स्थान पर मौजूद है। दुनिया भर में 2016 के पूरे साल कुल 11,072 आतंकी हमले हुए, जिसमें 927 हमले भारत में हुए। जो 2015 की तुलना में कहीं अधिक है। बता दें कि भारत में आतंकवाद की सबसे बड़ी वजह नक्सली हैं।

यूएस स्टेट डिपार्टमेंट की ओर जारी किए गए डाटा में नक्सलियों को आईएस-तालिबान के बाद तीसरा सबसे खतरनाक आतंकवादी संगठन माना है। यूएस स्टेट डिपार्टमेंट की ओर जारी आंकड़ों में बताते है कि साल 2015 की तुलना में भारत में साल 2016 में आतंकी हमले बढ़े हैं। भारत में साल 2015 में 798 हमले हुए, जो साल 2016 में बढ़कर 927 पहुंच गए।

Maoist-l

इन हमलों में 337 लोगों ने अपनी जानें गवाई और 636 लोग गंभीर रुप से जख्मी हुए। जबकि, भारत की तुलना में पाकिस्तान में 27 फीसदी आतंकी हमले घटे हैं। पाकिस्तान में साल 2015 में 1,010 हमलों हुए, तो साल 2016 में घटकर 734 हमले हुए। पिछले साल आतंकी हमलों की जारी इस लिस्ट में पाकिस्तान तीसरे स्थान पर मौजूद था, मगर मौजूदा हालात के बाद भारत ने पाकिस्तान को चौथे स्थान पर ढकेल दिया।


कमेंट करें