नेशनल

संचार उपग्रह GSAT-17 का सफल प्रक्षेपण, ISRO को मिली एक महीने में तीसरी बड़ी सफलता

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
71
| जून 29 , 2017 , 12:01 IST | कोरू

दुनिया की जानी-मानी उपग्रह प्रक्षेपण कंपनी एरियन स्पेस ने अपने भारी प्रक्षेपण एरियन-5 की मदद से गुरुवार को भारतीय संचार उपग्रह जीएसएटी -17 को लांच किया। फ्रेंच गुयाना के कोरू से गुरूवार तड़के दो बजे के बाद एरियनस्पेस रॉकेट के जरिये भारत के आधुनिक संचार उपग्रह जीसैट—17 का सफलतापूर्वक प्रक्षेपण किया गया।


जीसैट—17 का भार करीब 3,477 किलोग्राम है। यह उपग्रह सामान्य सी बैड, विस्तारित सी बैंड और एस बैंड में विभिन्न संचार सेवाएं उपलब्ध कराएगा। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने बुधवार को बताया था कि एरियन—5 प्रक्षेपण यान के जरिए 29 जून को भारतीय समयानुसार तड़के दो बजकर 29 मिनट पर जीसैट—17 का प्रक्षेपण किया जाएगा।

आपको बता दें कि जीसैट-17 किसी विदेशी प्रक्षेपास्त्र से प्रक्षेपित किये जाने वाले भारतीय अंतरीक्ष शोध संस्थान (इसरो) के आखिरी कुछ उपग्रहों में से एक था। इसका प्रमुख कारण यह है कि 5 जून को ही इसरो ने अपने स्वदेशी प्रक्षेपास्त्र जीएसएलवी मार्क-थ्री डीवन के साथ 3.1 किलोग्राम जीसैट-19 को प्रक्षेपित किया था, जो अपनी अंतरिक्षीय कक्षा की ओर अग्रसर हो रहा है। जिसके बाद से भारत खुद ही अपने सभी उपग्रह अंतरिक्ष में भेजने लगेगा।

अंतरिक्ष एजेंसी ने कहा कि यह मौसम संबंधी और उपग्रह आधारित तलाशी एवं बचाव कार्य से जुड़े आंकड़े भेजने वाले उपकरण भी लेकर गया है। इनसैट उपग्रह पहले ये सेवाएं उपलब्ध कराते थे। श्रीहरिकोटा अंतरिक्ष केंद्र से जीएसएलवी एमके-3 और पीएसएलवी सी-38 के बाद इसरो ने इस महीने में तीसरी बार किसी उपग्रह का प्रक्षेपण किया है।


कमेंट करें