खेल

पल्लेकेले टेस्ट: भारत ने पहली पारी में बनाए 487 रन, धवन-पांड्या की शानदार बल्लेबाजी

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
158
| अगस्त 13 , 2017 , 15:03 IST | कैंडी

हार्दिक पांड्या (108) के टेस्ट करियर के पहले शतक के दम पर भारत ने पल्लेकेले अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम में खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच के दूसरे दिन रविवार को श्रीलंका के खिलाफ अपनी पहली पारी में 487 रन बनाए हैं। भारत ने तीन टेस्ट मैच की इस सीरीज में 2-0 से अजेय बढ़त बनाई हुई है।

पहले दिन शनिवार को शिखर धवन (119) और लोकेश राहुल (85) की शानदार पारियों के दम पर छह विकेट पर 329 रनों से आगे खेलने उतरी भारतीय टीम ने रविवार को दिन के पहले सत्र में तीन विकेट खोकर 487 रन बनाए।

पहले दिन शनिवार के नाबाद बल्लेबाज रिद्धिमान साहा (16) और पांड्या ने सातवें विकेट के लिए 17 रन जोड़कर टीम का स्कोर 339 तक पहुंचाया था कि इसी स्कोर पर विश्व फर्नांदो ने दिलरुवान परेरा के हाथों साहा को कैच आउट कर पवेलियन का रास्ता दिखा दिया।

साहा के आउट होने के बाद पांड्या और कुलदीप यादव (26) ने 62 रनों की शानदार अर्धशतकीय पारी खेल कर टीम को 400 के पार पहुंचाया। लक्षण संदाकन ने इस साझेदारी को और आगे नहीं बढ़ने दिया और विकेट के पीछे खड़े निरोशन डिकवेला के हाथों कुलदीप को कैच आउट कर भारत का आठवां विकेट गिराया।

कुलदीप के पवेलियन जाने के बाद पिच की एक ओर भारतीय टीम की पारी संभाले पांड्या का साथ देने आए मोहम्मद शमी (8) को संदाकन ने ज्यादा देर तक मैदान पर टिकने नहीं दिया और 421 के कुल योग पर उन्हें खुद ही कैच आउट कर पवेलियन भेज दिया।

इसके बाद पांड्या ने उमेश के साथ 10वें विकेट के लिए 66 रनों की बेहतरीन साझेदारी कर टीम को 487 के स्कोर तक पहुंचाया। इसके साथ भोजनकाल की घोषणा कर दी गई। पांड्या ने पहले सत्र की समाप्ति से टेस्ट करियर का पहला शतक लगाया। पांड्या ने अब तक अपनी पारी में खेली गईं 93 गेदों में आठ चौके और सात छक्के लगाए। इसके अलावा, वह टेस्ट मैच में अपने क्रिकेट करियर का पहला शतक लगाने वाले पांचवें भारतीय खिलाड़ी हैं।

इससे पहले विजय मांजरेकर, कपिल देव, अजय रात्रा और हरभजन सिंह ने टेस्ट मैच में क्रिकेट करियर का पहला शतक लगाया था। पांड्या एक ओवर में 26 रन बनाए। यह टेस्ट प्रारूप के इतिहास में किसी भारतीय खिलाड़ी द्वारा एक ओवर में बनाए गए सबसे अधिक रन हैं। उन्होंने इस क्रम में दिग्गज खिलाड़ी कपिल देव के रिकॉर्ड को पार कर दिया। कपिल ने लॉर्ड्स में 1990 में इंग्लैंड के गेंदबाज एडी हेमिंग्स की ओर से एक ओवर में फेंकी गई छह गेंदों में 24 रन बनाए।

दूसरे सत्र की शुरुआत के बाद पारी आगे बढ़ाने उतरे पांड्या और उमेश यादव (नाबाद 3) को संदाकन ने एक भी रन जोड़ने का मौका न देते हुए पांड्या को 487 के ही स्कोर पर दिलरुवान परेरा के हाथों कैच आउट कर भारतीय पारी समाप्त कर दी। श्रीलंका के लिए संदाकन ने सबसे अधिक चार विकेट लिए, वहीं मलिंदा पुष्पकुमारा ने तीन विकेट हासिल किए। इसके अलावा फर्नादो को दो सफलता हासिल हुई।


कमेंट करें

अभी अभी