नेशनल

भारत ने नहीं किया कोई ऑपरेशन, कश्मीर से ध्यान हटाने के लिए करता है ढोंग -पाकिस्तान

श्वेता बाजपेई, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
124
| जनवरी 1 , 1970 , 05:30 IST | इस्लामाबाद

पाकिस्तानी थल सेना ने गुरुवार को इन दावों को खारिज कर दिया कि भारतीय कमांडों ने जैसे को तैसा कार्रवाई करते हुए नियंत्रण रेखा के पार एक चौकी को चुनिंदा तरीके से निशाना बना कर तीन पाकिस्तानी सैनिकों को मार गिराया।

रावलपिंडी में मीडिया को संबोधित करते हुए PAK आर्मी ने गुरुवार को कहा, "भारतीयों ने हाल ही में ये दावा किया है कि उनके 10 जवान पाकिस्तान में आए और हमारे जवानों को मारा। ये गलत है।"

आसिफ गफूर ने यह भी कहा कि सशस्त्र बल किसी भी परिस्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।

पाकिस्तान आर्मी के स्पोक्सपर्सन मेजर जनरल आसिफ गफूर ने कहा, "पिछले साल की सर्जिकल स्ट्राइक भी भारत का झूठा प्रचार थी। भारत अपने देश की जनता का ध्यान कश्मीर से हटाने के लिए भारत इस तरह का झूठा प्रचार कर रहा है। आप हमें इस तरह की झूठी बातों में नहीं घसीट सकते। हमारे देश की सेना किसी भी तरह के एक्शन का जवाब देने में सक्षम है।'

गफूर ने कहा, "पाकिस्तान जो कोई भी कदम उठाता है, भारत उसे कमतर दिखाने की कोशिश करता है। अगर हम अच्छी नीयत से भी कुछ करते हैं तो भारतीय मीडिया उसे निगेटिव रंग में रंग देता है। हमने एक जिम्मेदार देश होने के नाते जाधव की फैमिली को उससे मिलने दिया। इस तरह की कोई भी कोशिश एंटी-पाकिस्तान एलीमेंट करेंगे तो हम उसका विरोध करेंगे।'

उन्होंने कहा, "पाकिस्तान ने आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई लड़ी और उनके ठिकानों को तबाह किया। किसी भी बैन ऑर्गनाइजेशन का ठिकाना इस वक्त पाकिस्तान में नहीं है। टेररिस्ट ग्रुप को मदद करने वाले पाकिस्तान में नहीं है। हमने इलाके में शांति बनाने के लिए लंबी लड़ाई लड़ी है।

इस हफ्ते की शुरुआत में नई दिल्ली में भारतीय थल सेना सूत्रों ने कहा था कि घातक कमांडों के एक छोटे से समूह ने एलओसी के करीब 200-300 मीटर पाकिस्तानी चौकी को चुनिंदा तरीके से निशाना बनाया था।

इस कार्रवाई को चार भारतीय सैनिकों की पाकिस्तान थल सेना की बॉर्डर ऐक्शन टीम द्वारा पिछले हफ्ते राजौरी जिले के केरी सेक्टर में हत्या किए जाने के बदले के तौर पर देखा जा रहा है।


कमेंट करें