नेशनल

लक्ज़री होटल की तरह बनेंगे ट्रेनों के टॉयलेट, अब नहाना भी होगा मुमकिन

कुलदीप सिंह, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
146
| जून 14 , 2017 , 14:17 IST | नई दिल्ली

रेल मंत्री सुरेश प्रभु के नेतृत्व में भारतीय रेलवे कायाकल्प के दौर से गुजर रहा है। रेल मंत्रालय आगामी वर्षों में 40000 नए सर्वसुविधायुक्त कोच ट्रेनों में जोड़ने की योजना बना चुका है। रेलवे नए प्लान के तहत एसी कोच में टॉयलेट में बड़े बदलाव करने जा रहा है। जानकारी के मुताबिक नए कोच में अलग तरह का टॉयलेट सिस्टम लगने जा रहा है। ट्रेनों के एसी-1 और एसी-2 कोच में अलग-अलग वॉश रूम होंगे, जिनमें नहाने के लिए मौसम के मुताबिक गर्म या ठंडा पानी मिलेगा।

01_1497377497

पायलट प्रोजेक्ट में बनेंगे 100 कोच

नए कोच का डिजाइन रिसर्च डिजाइन एंड स्टैंडर्ड ऑर्गनाइजेशन यानी आरडीएसओ में तैयार किया जा रहा है। रेल मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक पायलट प्रोजेक्ट के तहत पहले 100 कोच भोपाल के निशातपुरा की रेल कोच फैक्ट्री में बनेंगे।

इस योजना का मकसद है कि लंबी दूरी की ट्रेनों में सफर करने वाले पैसेंजर पूरी तरह तैयार होकर बाहर निकलें और अपने काम पर जा सकें। प्रोजेक्ट के तहत एसी-2 और एसी-1 कोच में अलग-अलग वॉश रूम दिए जाएंगे। दिसंबर में हरियाणा के सूरजकुंड में हुई रेलवे मिनिस्टर्स की कॉन्फ्रेंस में कुछ अधिकारियों ने इस तरह के सेपरेट वॉशरूम का सुझाव दिया था। इसके बाद आरडीएसओ से बात कर ऐसे कोच का डिजाइन तैयार करवाया जा रहा है। इस महीने के आखिर तक यह डिजाइन तैयार होकर फाइनल कर दिया जाएगा। यदि सब कुछ तय शेड्यूल के मुताबिक चला तो इस साल के आखिर तक ऐसे कोच कुछ ट्रेनों में लगा दिए जाएंगे।

03_1497378147

रशियन स्टील का होगा इस्तेमाल

सूत्रों के मुताबिक, यूरिनल विद टॉयलेट वेस्टर्न होंगे। इनकी आउटर वॉल रशियन स्टील से बनी होगी। रशियन स्टील काफी पतला होने के साथ-साथ मजबूत होगा। यह जगह भी कम घेरेगा, जिससे वॉशरूम भी पास में ही बनाए जा सकेंगे।

05_1497378147


कमेंट करें