बिज़नेस

Infosys 10 हजार अमेरिकी नागरिकों को देगा नौकरी, ये है वजह

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
184
| मई 2 , 2017 , 20:01 IST | इंडियाना

सूचना प्रद्यौगिकी कंपनी इंफोसिस ने कहा कि कंपनी अगले दो साल में भाड़े के 10,000 अमेरिकी कर्मियों से काम कराएगी। कंपनी की अमेरिका में चार नई तकनीकी और इनोवेशन सेंटर स्थापित करने की भी योजना है।

दरअसल, इंफोसिस अमेरिका में वीजा संबंधी परेशानियों का हल निकालने के लिए अगले दो साल के दौरान 10 हजार अमेरिकियों को नौकरी देने की योजना बना रही है। इसके अलावा कंपनी वहां 4 टेक्नोलॉजी और इनोवेशन सेंटर भी स्थापित करेगी।

Sikka 1

पहला केंद्र अगस्त, 2017 में इंडियाना में खोला जाएगा और 2021 तक अमेरिकी कर्मियों के लिए 2,000 नौकरी का सृजन करेगी।

इंफोसिस के सीईओ विशाल सिक्का ने कहा कि,

इंफोसिस अगले दो सालों में 10,000 अमेरिकी टेक्नोलॉजी श्रमिकों की भर्ती करने के लिए प्रतिबद्ध है, ताकि अमेरिका में हम अपने ग्राहकों को खोज में मदद और डिजिटल भविष्य प्रदान कर सके

इन हबों में न केवल प्रौद्योगिकी और इनोवेशन सेंटर होंगे, बल्कि वित्तीय सेवाओं, विनिर्माण, स्वास्थ्य देखभाल, खुदरा, ऊर्जा जैसे प्रमुख सेवाएं ग्राहकों को उपलब्ध कराएंगे।

इंडियाना के गवर्नर एरिक जे. होल्कोम ने कहा कि,

इंफोसिस का इंडियाना में स्वागत है और अपने अनुमानित 2,000 होजियर जॉब्स के अलावा हमारे बढ़ते तकनीकी पारिस्थितिकी तंत्र का विस्तार करना बेहद अच्छा है

वीजा एकमात्र मसला नहीं

सिक्का ने स्पष्ट किया कि स्थानीय नियुक्तियों का फैसला केवल इसलिए नहीं किया गया है कि अमेरिका में वीजा के कड़े नियमों का असर कम किया जा सके। उन्होंने कहा कि,

पिछले तीन साल के दौरान आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और वर्चुअल टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल काफी बढ़ा है। यहां तक कि पुराने प्रोजेक्टर को भी अब ज्यादा ऑटोमेटिक बनाया जा रहा है।

सिक्का ने कहा कि आईटी सेक्टर में अब ज्यादा से ज्यादा काम नई टेक्नोलॉजी के साथ आधुनिक होता जा रहा है। ऐसे में आपको वैश्विक और स्थानीय तौर पर कुशल कर्मियों की मिलीजुली टीम चाहिए।

Infosys 2


कमेंट करें