अभी-अभी

पत्नी से जबरदस्ती ओरल सेक्स करना रेप है? गुजरात हाईकोर्ट सुनाएगा फैसला

अमितेष युवराज सिंह, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
171
| नवंबर 7 , 2017 , 14:46 IST | नयी दिल्ली

पत्नी के साथ जबरदस्ती ओरल सेक्स करना क्या रेप है? गुजरात हाईकोर्ट इस पर अपना फैसला सुनाने वाला है। कोर्ट इस बात पर भी फैसला करेगा कि पत्नी को ओरल सेक्स के लिए मजबूर करना, रेप या क्रूरता की श्रेणी में आता है कि नहीं। साथ ही अदालत यह भी फैसला करेगी कि ऐसे मामलों में पति पर ट्रायल किया जा सकता है कि नहीं।

59282219

जस्टिस जे बी पर्डीवाला ने सोमवार को गुजरात सरकार से इस मामले पर जवाब मांगा है। कोर्ट ने उस महिला को भी नोटिस जारी किया है जिसने ओरल सेक्स के लिए दबाव डालने के लिए अपने पति के खिलाफ साबरकांठा में एफआईआर दर्ज कराई है। इस महिला के पति ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है और अपने खिलाफ लगे रेप और यौन उत्पीड़न के आरोपों को बर्खास्त करने की मांग की है। उसका कहना है कि वे शादीशुदा हैं इसलिए उसके खिलाफ यौन उत्पीड़न और रेप के आरोप नहीं लगाए जा सकते हैं।

मैरिटल रेप की गंभीरता पर बात करते हुए जस्टिस पर्डीवाला ने माना कि यह भारत में घटते हैं। उन्होंने इस बात को शर्मनाक बताते हुए कहा कि इसकी वजह से शादी जैसी संस्था पर विश्वास को ठेस लगी है। कोर्ट ने सरकार से कई पहलुओं पर जवाब मांगा है।

Fffffffffffffffffff

क्या एक पत्नी अपने पति के खिलाफ अप्राकृतिक सेक्स के लिए आईपीसी के सेक्शन 377 के अंतर्गत केस दर्ज कर सकती है? अगर पति पत्नी पर ओरल सेक्स का दबाव बनाता है तो इसे सेक्शन 377 या क्रूरता मानते हुए सेक्शन 498A के अंतर्गत अपराध माना जाएगा? क्या यह सेक्शन 376, रेप, के अंतर्गत अपराध माना जाएगा?

कोर्ट मैरिटल रेप की परिभाषा पर भी चर्चा करेगा। मैरिटल रेप को पति द्वारा पत्नी के साथ जबरन या धमका कर या ऐसी स्थिति में सेक्स करना माना गया है जब वह हां या न कहने की अवस्था में न हो।


कमेंट करें