नेशनल

GSAT-9 लॉन्च कर सार्क के 6 देशों को भारत ने दिया बड़ा गिफ्ट, 235 करोड़ आई है लागत

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
152
| मई 5 , 2017 , 18:03 IST | श्रीहरिकोटा

भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी इसरो ने 4.57 मिनट पर दक्षिण एशिया संचार उपग्रह जीसैट-9 को लॉन्च कर दिया है। इसे श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से लॉन्च किया गया। इस उपग्रह का निर्माण इसरो ने किया और इस उपग्रह के जरिए दक्षिण एशियाई देशों के बीच संपर्क को बढ़ावा मिलेगा। दरअसल, जीसैट-9 को भारत की ओर से दक्षिण एशियाई पड़ोसी देशों के लिए तोहफा समझा जा रहा है।

जीसैट-9 को इसरो के रॉकेट जीएसएलवी एफ-09 से लॉन्च किया गया। बता दें आपको कि जीएसएलवी रॉकेट की यह ग्यारहवीं उड़ान है। पहले इसे सार्क सैटेलाइट का नाम दिया गया था, मगर पाकिस्तान ने भारत के इस उपहार को स्वीकार करने से इनकार कर दिया था

इस उपग्रह के जरिए सार्क देशों में पाकिस्तान को छोड़कर बाकि के सभी देशों को इसका फायदा होगा। विशेषज्ञों की मानें तो भारत के इस कदम से पड़ोसी देशों पर चीन के बढ़ते प्रभाव को कम किया जा सकेगा। इस प्रोजेक्ट का हिस्सा भारत, श्रीलंका, भूटान, अफगानिस्तान, बांग्लादेश, नेपाल और मालदीव हैं।

पीएम मोदी ने सार्क देशों के राष्ट्राध्यक्षों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस की और जीसैट-9 उपग्रह के लॉन्च होने पर उसे ऐतिहासिक बताया। पीएम मोदी ने कहा कि सार्क देशों की भागीदारी में होगा इजाफा। इसी के साथ पीएम मोदी ने इसरो के वैज्ञानिको को बधाईयां दी।

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने इसरो के वैज्ञानिकों को उपग्रह लॉन्च करने पर बधाई दी।

जीसैट-9 करीब 235 करोड़ रुपए की लागत पर तैयार किया गया है और इसका उद्देश्य दक्षिण एशिया के देशों को बेहतर संचार और आपदा सहयोग मुहैया कराना है।


कमेंट करें