नेशनल

ISRO को लगा बड़ा झटका, सैटेलाइट GSAT-6A से 48 घंटे में ही टूट गया संपर्क

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
239
| अप्रैल 1 , 2018 , 14:44 IST

श्रीहरिकोटा से गुरुवार को लॉन्च हुए सैटेलाइट GSAT-6A के लिए बुरी खबर है। GSAT-6A का 48 घंटे में ही भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन यानि इसरो से अचानक संपर्क टूट गया। इसरो की तरफ से जारी एक बयान में कहा गया, 'सफलतापूर्वक काफी देर तक फायरिंग के बाद जब सैटेलाइट तीसरे और अंतिम चरण के तहत 1 अप्रैल 2018 को सामान्य ऑपरेटिंग की प्रक्रिया में था, इससे हमारा संपर्क टूट गया। सैटलाइट GSAT-6A से दोबारा लिंक के लिए लगातार कोशिश की जा रही है।'

इसे वैज्ञानिकों के साथ-साथ सशस्त्र सेनाओं के लिए भी बड़ा झटका माना जा रहा है। भारतीय सेना के लिए संचार सेवाओं को मजबूत बनाने वाले महत्वाकांक्षी GSAT-6A का गुरुवार शाम श्रीहरिकोटा से प्रक्षेपण हुआ था लेकिन 48 घंटे से कम वक्त में ही इससे संपर्क टूट गया।

Fffffffffffffffff

जहां एक ओर इसरो की तरफ से कहा जा रहा है कि सैटेलाइट से दोबारा संपर्क स्थापित करने की कोशिश की जा रही है, वहीं सूत्रों के मुताबिक पावर सिस्टम फेल होने की वजह से संपर्क टूटा है। GSLV-F08 लॉन्च पैड के जरिए 2140 किलोग्राम वजनी GSAT-6A को प्रक्षेपित किया गया था। पहला ऑर्बिट ऑपरेशन शुक्रवार सुबह 9.22 पर सफलतापूर्वक संपन्न हो गया था। ऑर्बिट के झुकाव के अलावा उपग्रहों के पृथ्वी के निकटतम और सबसे दूर के बिंदुओं को बदलने की प्रक्रिया भी पूरी हो गई थी।

पावर सिस्टम हुआ फेल?

लिक्विड एपॉजी मोटर (LAM) इंजन भी बिल्कुल ठीक काम कर रहा था और पहला ऑर्बिट ऑपरेशन कामयाब रहा था। सूत्र के मुताबिक, उस वक्त तक कम्यूनिकेशन सैटलाइट तय जगह पर पहुंच चुका था

उपग्रह के प्रक्षेपण के लिए जीएसएलवी रॉकेट में भी बदलाव किए गए थे। इसके दूसरे चरण के लिए हाई थ्रस्ट विकास इंजन लगाया गया है। इसके अलावा रॉकेट में इलेक्ट्रो हाइड्रोलिक एक्यूटेशन सिस्टम के बजाय इलेक्ट्रो केमिकल ऑटोमेशन का इस्तेमाल किया गया।


कमेंट करें