इंटरनेशनल

जॉनसन बेबी पाउडर से हुआ कैंसर, कंपनी पर लगा 321 अरब का जुर्माना

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
1372
| जुलाई 14 , 2018 , 11:20 IST

जॉनसन एंड जॉनसन कंपनी के बेबी पाउडर की वजह से कैंसर होने की बात सामने आई है। जिसके बाद जांच किए जाने पर पता चला है कि जॉनसन एंड जॉनसन बेबी पाउडर की वजह से ही 22 अमेरिकी महिलाओं के बच्चेदानी में कैंसर जैसी बीमारी हो गई है। जिसके बाद के मिसौरी प्रांत की सेंट लुइस सर्किट कोर्ट में जूरी ने कंपनी को 22 पीड़ित महिलाओं को 4.69 अरब डॉलर के मुआवजे के आदेश दिए हैं।

भारतीय मुद्रा में यह रकम करीब 321 अरब रुपये बैठती है। गौरतलब है कि कंपनी के कई प्रोडक्ट्स भारत में भी खासे लोकप्रिय हैं। अभी तक के इस तरह के लगभग 9,000 मामलों में जॉनसन एंड जॉनसन पर यह सबसे बड़ी जुर्माने की कार्रवाई है।

इस समय जॉनसन एंड जॉनसन इसी प्रकार के करीब 9,000 मामले अलग अलग कोर्ट में लड़ रही है। मौजूदा मामले में पाउडर में मिलाए गए अस्बस्टस की वजह से महिलाओं को ओवेरियन कैंसर की बात सामने आने पर मुआवजे का दावा किया गया था। वहीं जॉनसन एंड जॉनसन द्वारा अपने पाउडर व संबंधित उत्पादों की वजह से कैंसर होने का खंडन किया है। कंपनी ने विभिन्न अध्ययनों के आधार पर कहा कि उसका पाउडर सुरक्षित है। साथ ही यह भी कहा है कि पूर्व में इस प्रकार के निर्णयों को उच्च अदालतों द्वारा तकनीकी व कानूनी आधारों पर बदला गया है।

कंपनी की तरफ से जारी बयान में कहा गया कि महिलाएं आम तौर पर उसी टेलकम पाउडर का इस्तेमाल करती हैं जो बच्चों के लिए होते हैं। अपीलकर्ता महिला के वकील ने बताया कि उनकी मुअक्किल स्नान के बाद इस पाउडर का प्रयोग करती थीं जिसके बाद उन्हें ओवेरियन कैंसर की शिकायत हुई। अपीलकर्ता के वकील ने कहा कि इस फैसले के बाद कंपनी की टीम मेडिकल बोर्ड के सामने शायद अब बेहतर उत्पाद पेश करें।

6 महिलाओं की हो चुकी है मृत्यु-:

याचिकाकर्ताओं ने आरोप लगाया कि बेबी प्रोडक्ट कंपनी के टैलकम पाउडर में एसबेस्टोस पाया गया, जिससे 1970 के दशक में उन्हें ओवेरियन कैंसर हो गया। ऐसे ही मामलों में 6 महिलाओं की मृत्यु भी हो चुकी है। जॉनसन एंड जॉनसन ने दलील दी कि उसके टैल्क प्रोडक्ट्स में एस्बेस्टोस नहीं होता है या वह कैंसर की वजह नहीं है। कंपनी ने कहा कि वह कोर्ट के फैसले के खिलाफ कोर्ट में अपील करेगी।

इसे भी पढ़ें-: अमेरिका के विरोध के बावजूद रूस से S-400 मिसाइल सिस्‍टम खरीदेगा भारत: रक्षा मंत्री

महिलाओं के अधिवक्ता मार्क लीनियर ने बताया कि इस निर्णय के बाद कंपनी को अपने पाउडर उत्पादों बाजार से वापस ले लेने चाहिए ताकि और महिलाओं को इस प्रकार की पीड़ा, नुकसान व मृत्यु की वजह बनने वाली बीमारी से गुजरना न पड़े। लीनियर ने कहा कि अगर जॉनसन एंड जॉनसन पाउडर को बेचना जारी रखना चाहता है तो वह इस पर गंभीर चेतावनी प्रकाशित करे। इस पाउडर की वजह से ओवेरियन कैंसर महिलाओं को अपनी चपेट में ले रहा है।


कमेंट करें