राजनीति

सुप्रीम कोर्ट विवाद पर राहुल गांधी ने कहा- जस्टिस लोया की मौत की हो SIT जांच

सतीश वर्मा, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
494
| जनवरी 12 , 2018 , 19:55 IST

सर्वोच्च न्यायालय के चार वरिष्ठ न्यायाधीशों न्यायाधीश चेलमेश्वर, न्यायाधीश जोसेफ कुरियन, न्यायाधीश रंजन गोगोई और न्यायाधीश एम बी लोकुर की प्रेस वार्ता के बाद विपक्ष में हलचल मच गई है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सुप्रीम कोर्ट विवाद पर मीडिया को संबोंधित किया।

राहुल गांधी ने कहा कि जस्टिस लोया की संदिग्ध परिस्थिति में हुई मौत की जांच हाई लेवल स्तर पर होनी चाहिए। इसके लिए अलग से SIT गठित की जाए। सुप्रीम कोर्ट के चार वरिष्ठ जजों का CJI पर जो सवाल उठाए गए हैं वो चिंता का विषय है। इस पर देश में बहस होनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि न्यायपालिका पर सबको भरोसा है, आज जो जजों ने सवाल उठाए हैं उसकी जांच होनी चाहिए। 

बता दें कि जस्टिस लोया सोहाराबद्दीन एनकाउंटर केस की सुनवाई कर रहे थे और सुनवाई के दौरान ही संदेहास्पद स्थिति में उनकी मौत हुई।

आरोप को कांग्रेस ने लोकतंत्र को खतरे में होना बताया है। कांग्रेस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से किए गए ट्वीट में कहा गया है, '4 जजों द्वारा सुप्रीम कोर्ट में प्रशासनिक अनियमितताओं के आरोप पर हम काफी चिंतित हैं।

कांग्रेस नेता रणदीप सूरजेवाला ने कपिल सिब्बल, सलमान खुर्शीद, पी चिदंबरम, मनीष तिवारी समेत अन्य कानून के जानकारों की मौजूदगी में प्रेस वार्ता की।

जजों ने कहा था- सुप्रीम कोर्ट में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा

जजों ने आरोप लगाए कि देश कोर्ट में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है। अगर ऐसा रहा तो देश में लोकतंत्र नहीं बच पाएगा। सुप्रीम कोर्ट में नंबर दो के जज माने जाने वाले जस्टिस चेलामेश्वर ने मीडिया से बात करते हुए कहा, 'करीब दो महीने पहले हम 4 जजों ने चीफ जस्टिस को पत्र लिखा और मुलाकात की। हमने उनसे बताया कि जो कुछ भी हो रहा है, वह सही नहीं है। प्रशासन ठीक से नहीं चल रहा है। यह मामला एक केस के असाइनमेंट को लेकर था।' उन्होंने कहा कि हालांकि हम चीफ जस्टिस को अपनी बात समझाने में असफल रहे। इसलिए हमने राष्ट्र के समक्ष पूरी बात रखने का फैसला किया।

 


कमेंट करें