नेशनल

कलकत्ता हाई कोर्ट के पूर्व चीफ जस्टिस कर्णन गिरफ्तार, SC की अवमानना का है आरोप

सतीश वर्मा, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
109
| जून 20 , 2017 , 20:29 IST | कोयंबटूर

न्यायालय की अवमानना मामले में छह महीने जेल की सजा पाने वाले कलकत्ता उच्च न्यायालय के सेवानिवृत्त न्यायाधीश सी एस कर्णन को गिरफ्तार कर लिया गया है। उन्हें कोयंबटूर से गिरफ्तार किया गया है। वो सजा सुनाए जाने के बाद से ही फरार चल रहे थे।

गौरतलब है कि मद्रास उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश सहित अन्य न्यायाधीशों के खिलाफ आरोप लगाने के बाद कर्णन का स्थानांतरण कोलकाता उच्च न्यायालय कर दिया गया था। सर्वोच्च न्यायालय द्वारा बीते नौ मई को सजा सुनाने के बाद से ही कर्णन फरार चल रहे थे। पिछले हफ्ते 12 जून को ही वो सेवानिवृत्त हुए थे।

Sc 1

सुप्रीम कोर्ट ने सुनाई थी 6 महीने की सज़ा

प्रधान न्यायाधीश जगदीश सिंह केहर की अध्यक्षता वाली सात न्यायाधीशों की एक पीठ ने कर्णन को अवमानना का दोषी ठहराते हुए छह महीने जेल की सजा सुनाई थी। इसके तुरंत बाद पश्चिम बंगाल पुलिस का एक दल उन्हें गिरफ्तार करने के लिए चेन्नई रवाना हो गया, लेकिन सफलता नहीं मिली।

क्या है जस्टिस कर्णन विवाद

जस्टिस सी एस कर्णन ने 23 जनवरी 2017 को पीएम मोदी को लिखे खत में सुप्रीम कोर्ट और मद्रास हाई कोर्ट के जजों पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे। कर्णन ने इस चिट्ठी में 20 जजों के नाम लिखते हुए उनके खिलाफ जांच की मांग की थी।

इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने 8 फरवरी 2017 को जस्टिस कर्णन को अवमानना नोटिस जारी करते हुए 13 फरवरी को सुप्रीम कोर्ट के सात जजों की बेंच के सामने पेश होने का आदेश दिया। वारंट जारी होने के बाद जस्टिस कर्णन 31 मार्च को सुप्रीम कोर्ट के सामने पेश भी हुए थे।

Karnan 2

 


कमेंट करें

अभी अभी