अभी-अभी

चैम्पियंस ट्रॉफी जीतना है तो टीम इंडिया को दूसरी टीमों पर दबाव बनाना होगा: कपिल देव

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
131
| मई 11 , 2017 , 15:06 IST | नई दिल्ली

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान कपिल देव मानते हैं कि चैम्पियंस ट्रॉफी के लिए चुनी गई टीम काफी संतुलित है और इसमें शामिल खिलाड़ी काबिल हैं और उनमें जीतने की ललक है लेकिन यह देखना जरूरी होगा कि भारतीय टीम किस तरह से दूसरी टीमों पर दबाव बनाती है क्योंकि सभी टीमें अच्छी तैयारी के साथ इंग्लैंड पहुंचेंगी।

चैम्पियंस ट्राफी का आयोजन 1 से 18 जून तक इंग्लैंड में होगा और भारत मौजूदा चैम्पियन की हैसियत से इसमें हिस्सा लेगा। भारत ने 2013 में इंग्लैड की मेजबानी में महेंद्र सिहं धोनी की कप्तानी में यह खिताब जीता था। चैम्पियंस ट्रॉफी में भारत सहित कुल आठ टीमों हिस्सा लेंगी।

मैडम तुसाद वैक्स म्यूजियम के लिए गुरुवार को अपने मोम के पुतले के उद्घाटन के असवर पर कपिल ने संवाददाता सम्मेलन में कहा,

भारतीय टीम में क्षमता है, काबिलियत है, जीतने की ललक है और उसके लिए खिलाड़ी प्रयास भी करते हैं लेकिन चैम्पियंस ट्राफी जैसे आयोजन के लिए यह बहुत जरूरी होता है कि आप किस तरह से दूसरी टीमों पर दबाव बनाते हैं।



भारत के लिए सबसे पहले 400 टेस्ट विकेट का आंकड़ा पार करने वाले कपिल ने भारतीय गेंदबाजी पंक्ति को सक्षम करार दिया। कपिल ने कहा,

देश के लिए खेलने वाले हर खिलाड़ी में जुनून है। ये अधिक पेशेवर हैं और खेल को अलग नजरिए से देखते हैं। मेरे लिए एक गेंदबाज या बल्लेबाज टूर्नामेंट नहीं जीतता। मेरे लिए टीम को उस स्तर का खेल दिखाना होता है जहां से वह टूर्नामेंट जीत सकती है। हमारे गेंदबाज सक्षम हैं। हमें उन पर भरोसा करना चाहिए।



कप्तान विराट कोहली इन दिनों खराब फार्म से जूझ रहे हैं। तो क्या उनका खराब फार्म भारत के खिताब बचाने के अभियान को प्रभावित करेगा? इस पर कपिल ने कहा, " विराट के अलावा कई ऐसे खिलाड़ी है जो शानदार खेल रहे हैं और उनकी मौजूदगी भी काफी अहम है। विराट बड़े खिलाड़ी हैं लेकिन हमें दूसरे खिलाड़ियों के महत्व को नकारना नहीं चाहिए। हाल के दिनों में ही कई एसे मौके आए हैं जब विराट नहीं चले हैं और दूसरे खिलाड़ियों ने टीम के लिए अच्छा स्कोर किया है।"

सदी के महानतम क्रिकेट खिलाड़ी कपिल ने अपने एक्शन से भरपूर मोम के पुतले के उद्घाटन के बाद कहा कि वह इसे देखकर अभिभूत हैं और इस अनुभव को बयां करने के लिए उनके पास शब्द नहीं हैं। कपिल ने कहा, "यह मेरे लिए बिल्कुल नया अनुभव है। मेरे पास इसे बयां करने के लिए शब्द नहीं हैं। मैने सोचा था कि मैडम तुसाद में यह सब कैसे होगा लेकिन जो परिणाम निकलकर सामने आया है, वह हैरतअंगेज है। "


कमेंट करें