राजनीति

बिहार में टूट जाएगा महागठबंधन? जेडीयू का बयान- हम बीजेपी के साथ ज्यादा सहज थे

सतीश वर्मा, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
157
| जून 27 , 2017 , 19:04 IST | पटना

राष्ट्रपति चुनाव में जेडीयू की ओर से रामनाथ कोविंद का समर्थन करने के फैसले पर कांग्रेस और जेडीयू की रार बढ़ती जा रही है। जेडीयू नेता और राज्यसभा सांसद केसी त्‍यागी ने आरजेडी के साथ गठबंधन तोड़ने का इशारा किया है। उन्होंने कहा कि जब बीजेपी से गठबंधन था तो उनकी पार्टी काफी सहज थी।

Kc t

जनता दल यूनाइटेड के महासचिव के सी त्यागी ने मंगलवार को कह दिया है कि वो बीजेपी के साथ गठबंधन में ज्यादा सहज महसूस कर रहे थे। त्यागी के इस बयान से एक ओंर जहां बीजेपी नेता अंदर ही अंदर खुश हो रहे हैं, तो वहीं दूसरी ओर आरजेडी और कांग्रेस नेताओं के कानों में यह बयान तीर की तरह चुभ रहा है।

जनता दल यूनाइटेड के महासचिव के सी त्यागी ने राजधानी दिल्ली में पत्रकारों से कहा कि,

हम पांच साल बिहार गठबंधन चलाना चाहते थे। लेकिन ऐसे बयान बर्दाश्‍त नहीं किए जाएंगे। जदयू गुलाम नबी आजाद के गैर दोस्‍ताना बयान से सहज नहीं है। किसी पार्टी के आला नेता के खिलाफ ऐसा बयान सही नहीं है

जेडीयू का कांग्रेस पर सीधा हमला

उन्‍होंने कांग्रेस और उसकी कार्यशैली पर भी हमला किया। कांग्रेस पर उन्होंने कहा कि गांधी और नेहरू का सपना कांग्रेस पूरा नहीं कर पाई। हम यूपीए में नहीं हैं और हम एनडीए से भी बाहर हैं। हमें दूसरी पार्टियां सुझाव ना दें। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के किसी नेता ने मीरा कुमार का उल्लेख नहीं किया था। मीरा के नाम पर पहले चर्चा हुई होती तो हम साथ होते।

Ln

दरअसल, कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने सोमवार को कहा कि बिहार की बेटी की हार पर सबसे पहला निर्णय नीतीश कुमार ने लिया है। आजाद ने कहा कि जो लोग एक सिद्धांत में विश्वास करते हैं, वो एक फैसला लेते हैं। और जो लोग कई सिद्धांतों में विश्वास करते हैं, वो अलग-अलग फैसले लेते हैं।

महागठबंधन में दरार को पाटने की हो रही कोशिश

गौरतलब है कि राष्ट्रपति चुनाव में उम्मीदवारों के समर्थन को लेकर छिड़ी बहस के बाद महागठबंधन में आई दरार को भरने की कोशिश अब तेज हो गई है।

Ln 2

आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद और डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने सबसे पहले इसकी पहल करते हुए अपने पार्टी के नेताओं को चेताया था और सावधानी बरतने की नसीहत दी थी। इसके बाद बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी अपने नेताओं पर नाराजगी जताते हुए प्रवक्ताओं की क्लास लगा दी थी।

 


कमेंट करें