राजनीति

MCD चुनाव में हार के बाद केजरीवाल ने नए पार्षदों को खिलवाई ये कसम, देखिए वीडियो

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 1
388
| अप्रैल 27 , 2017 , 19:01 IST | नई दिल्ली

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को पार्टी के नवनिर्वाचित पार्षदों से मुलाकात की और उनसे ईमानदारी से काम करने और 'पार्टी से विश्वासघात न करने का' अनुरोध किया। दिल्ली निकाय चुनाव के लिए बीते रविवार को मतदान हुआ और बुधवार को मतगणना हुई, जिसमें भाजपा ने 270 में से 181 सीटें जीतते हुए शानदार कामयाबी हासिल की। आप को 48 वार्डो में जीत हासिल हुई है, जबकि कांग्रेस के हिस्से 30 सीटें आई हैं।

आप पार्षदों को अपने आवास पर संबोधित करते हुए केजरीवाल ने उनसे ईमानदारी की शपथ ली और उन्हें लालच में न फंसने और भ्रष्टाचार में संलिप्त न होने के प्रति चेताया। उन्होंने कहा कि दिल्ली के तीनों नगर निगमों में 'सर्वाधिक भ्रष्टाचार' है।

केजरीवाल ने दावा किया है कि भाजपा उनकी पार्टी को तोड़ने की पुरजोर कोशिश कर रही है, लेकिन वे एकजुट रहेंगे।

केजरीवाल ने कहा,

हमेशा अपने मोबाइल की रिकॉर्डिग ऑन रखिए, ताकि हमें पता चल सके कि इस तरह की कोशिशें हो रही हैं।



केजरीवाल ने आप पार्षदों से दिल्ली नगर निगम में भ्रष्टाचार पर लगाने के लिए आवाज बुलंद करने के लिए भी कहा।

उन्होंने कहा,

यह पार्टी भ्रष्टाचार के खिलाफ शुरू हुए अभियान से खड़ी हुई है, इसलिए आपसे अनुरोध है कि पूरी ईमानदारी दिखाएं। ईमानदारी के साथ-साथ एमसीडी में भ्रष्टाचारों के खिलाफ आवाज उठाने का साहस भी दिखाएं। वे (भाजपा) आपको जेल भेजने की कोशिश कर सकते हैं या आपकी आवाज दबाने की कोशिश कर सकते हैं, लेकिन डरें नहीं।



केजरीवाल ने नवनिर्वाचित आप पार्षदों से किसी अन्य पार्टी द्वारा भारी कीमत की पेशकश मिलने पर भी भ्रष्टाचार के खिलाफ आंदोलन को न छोड़ने का आग्रह किया।

केजरीवाल ने कहा,

यह बहुत ही पवित्र आंदोलन है। अगर आम आदमी पार्टी को आप छोड़ देंगे, इस आंदोलन को छोड़ देंगे, तो लोग कभी खुश नहीं होंगे।



केजरीवाल ने आप पार्षदों से चुनाव के दौरान पार्टी के लिए प्रचार कार्य करने वाले कार्यकर्ताओं की बातों पर भी ध्यान देने के लिए कहा।

उन्होंने कहा,

पार्टी कार्यकर्ता अपने इलाकों में काम करवाने के लिए आपके पास आएंगे। अगर आप उनका काम नहीं करेंगे, तो वे अपने इलाके में मुंह दिखाने लायक नहीं रहेंगे, जहां उन्होंने आपके लिए वोट मांगे। इसलिए उनकी बातों को सुनें और उनका काम करें।



दिल्ली के तीनों नगर निगमों में नियुक्त सफाई कर्मियों की अहमियत पर जोर देते हुए केजरीवाल ने अपने पार्षदों से सफाईकर्मियों से परिवार के सदस्य जैसा बर्ताव करने का सुझाव दिया।

केजरीवाल ने कहा,

वे गरीब हैं और प्रताड़ित हैं, इसलिए उनके साथ अपने परिवार के सदस्य जैसा व्यवहार करें। सफाईकर्मियों के बीच अपनी अच्छी छवि बनाएं।

 


कमेंट करें