नेशनल

खुल गया राज, ब्लू व्हेल गेम नहीं सिर्फ एक साजिश है! हो गई 130 की मौत

ललिता सेन | 0
171
| अगस्त 13 , 2017 , 09:28 IST | नई दिल्ली

आजकल सोशल मीडिया पर ब्लू व्हेल ऐप खूब तलाशी जा रही है, लेकिन आपको बता दें कि ये ना तो गेम है और ना ही ऐप है। यह एक शराती लोगों का एक ट्रैप है, जो दुनिया भर में अब तक 130 लोगों की जान ले चुका है। ब्लू व्हेल के पीछे मास्को के फिलिप बुडेईकिन का दिमाग है। उसे गिरफ्तार किया जा चुका है और वह तीन साल की सजा काट रहा है।

ब्लू व्हेल की वजह से पिछले दिनों मुंबई में 9वीं कक्षा के एक छात्रा ने अपनी जान दे दी। फिर पुणे और इंदौर में भी बच्चों के ब्लू व्हेल गेम के झांसे में आने की खबरें सामने आईं। दरअसल, बच्चे ब्लू व्हेल को गेम मानकर इसके झांसे में फंस रहे हैं।

Game

बताया जा रहा है, फिलिप नामक युवक ने यूरोप में लोकप्रिय सोशल मीडिया पर बच्चों को आकर्षित करने के लिए एक ग्रुप बनाया था, जिसका नाम F-57 था, इसकी शुरुआत 2013 में हुई थी। ब्लू व्हेल पर जुड़ने वालों को फिलिप पहले हॉरर वीडियो दिखाता था। उसका मकसद था कि इस गेम में ज्यादा से ज्यादा बच्चों को जोड़ा जाए।

फिलिप इस गेम के अलग-अलग राउंड में बच्चों को खतनाक टास्क देता था। जिसमें इमारत की मंडेर पर संतुलन बनाकर चलना, छत से कूदना, जानवरों को मारकर उनका वीडियो पोस्ट करना शामिल है। कई बच्चे इस ग्रुप से खुद को अलग कर लेते थे, लेकिन कुछ बच्चे अपना टास्क पूरा करने के लिए अपनी जान तक गंवा दी।

Blue

आपको बता दें कि, एक लड़की की वजह से जांच एजेंसी को फिलिप के खिलाफ कई सबूत मिले थे। वह लड़की सोशल नेटवर्क पर काफी समय बिताती थी। डरावनी तस्वीरों के लिंक क्लिक करते-करते वह भी फिलीप द्वारा चलाए जा रहे सुसाइड ग्रुप तक पहुंची गई थी। फिर लड़की ने इसकी जानकारी जांच एजेंसियों को दी, जिसके बाद फिलिप को पकड़ा गया। 


कमेंट करें