अभी-अभी

जाधव ने पाक सेना प्रमुख को दी दया याचिका, पाकिस्तान ने जारी किया नया वीडियो

अमितेष युवराज सिंह, न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
102
| जून 22 , 2017 , 21:31 IST | नयी दिल्ली

पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव ने पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा को क्षमा याचिका भेजी है। इंटर-सर्विसेज पब्लिक रिलेशन (आईएसपीआर) ने एक बयान में दावा किया है कि जाधव ने अपनी याचिका में पाकिस्तान में जासूसी, आतंकवादी और विध्वंसक गतिविधियों में अपनी संलिप्तता को स्वीकार किया है और जान माल के नुकसान के लिए पछतावा जताया है।

आईएसपीआर के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने गुरुवार को फेसबुक पर पोस्ट  कर जाधव की दया याचिका के बारे में जानकारी दी। आईएसपीआर ने कहा,

अपने कृत्य के लिए माफी मांगते हुए उन्होंने सेना प्रमुख से अनुरोध किया है कि अनुकंपा के आधार पर उनकी जिंदगी बख्श दें।  

55565-sgrjmavzlg-1491901152

बयान में कहा गया है कि भारतीय नौसेना के सेवानिवृत्‍त अधिकारी जाधव ने पहले सेना की अपीली अदालत में गुहार लगाई थी जिसे खारिज कर दिया गया। कानून के मुताबिक जाधव क्षमादान के लिए चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ को अपील कर सकते हैं और खारिज किये जाने पर पाकिस्तान के राष्ट्रपति के सामने गुहार लगा सकते हैं।

इस बीच पाकिस्तानी सेना ने जाधव के कथित कबूलनामे का एक दूसरा वीडियो जारी किया है। सेना ने कहा कि उसने वीडियो जारी किया है ताकि दुनिया जान ले कि भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ क्या किया है और क्या करता जा रहा है।

कथित कबूलनामे का वीडियो 10 मिनट 10 सेकंड का है जिसे एडिट किया गया है। वीडियो की शूटिंग में एक से ज्यादा कैमरों का इस्तेमाल किया गया है।वीडियो की शूटिंग में एक से ज्यादा कैमरों का इस्तेमाल किया गया है।

57877-yatnewajmb-1494421566

वीडियो की शुरुआत में बताया गया है कि इसे अप्रैल 2017 में शूट किया गया था। वीडियो में जाधव को यह कहते हुए सुना जा रहा है कि उन्होंने 2005 और 2006 में दो मौकों पर कराची का दौरा किया था। वीडियो में जाधव को यह कहते हुए दिखाया जा रहा है कि भारतीय खुफिया एजेंसियों को पहले ही 2014 में मोदी सरकार के आने का अंदाजा हो गया था, जिसके बाद उन्हें रॉ में फिर शामिल किया गया।

(देखिये पाकिस्तान द्वारा जारी नया वीडियो)

आपको बता दें कि भारत ने कुलभूषण जाधव को सुनाई गयी फांसी की सजा के खिलाफ आठ मई को अंतरराष्ट्रीय अदालत का रुख किया था। मामले में 18 मई को हुई सुनवाई में आईसीजे की 10 सदस्यीय पीठ ने जाधव की सजा पर रोक लगा दी थी।


कमेंट करें