अभी-अभी

'आप' में घमासान, अब केजरीवाल बोले-'कुमार मेरा छोटा भाई, कोई अलग नहीं कर सकता'

न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया | 0
137
| अप्रैल 30 , 2017 , 19:34 IST | नई दिल्ली

दिल्ली नगर निगम चुनाव के नतीजों के बाद आम आदमी पार्टी के अंदर लगी आग की आंच अब पार्टी के सबसे बड़े नेता अरविंद केजरीवाल तक पहुंच गई है। बताया जा रहा है कि पार्टी में नए संयोजक बनाने की मांग उठ रही है और इसके लिए बेहतरीन वक्ता, कवि और पार्टी के सीनियर नेता कुमार विश्वास का नाम उछाला जा रहा है।

Kejri vishwas

उधर अटकलों के गर्म होते बाजार के बीच दिल्ली के सीएम और पार्टी के मौजूदा संयोजक अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट करते सफाई दी है कि उनके और कुमार विश्वास के बीच कोई दरार नहीं हैं। कुमार विश्वास से अपने अटूट रिश्तों की दुहाई देते हुए अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया है कि,

कुमार मेरा छोटा भाई है। कुछ लोग हमारे बीच दरार दिखा रहे हैं, ऐसे लोग पार्टी के दुश्मन हैं! वो बाज़ आयें। हमें कोई अलग नहीं कर सकता

 

मंत्री कपिल मिश्रा ने किया अटकलों का बाजार गर्म

दरअसल, अरविंद केजरीवाल के मंत्री कपिल मिश्रा ने एक न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में ऐसे संकेत दिए कि अरविंद केजरीवाल आम आदमी पार्टी के संयोजक का पद छोड़ सकते हैं। जल मंत्री कपिल मिश्रा ने ये भी इशारा दिया कि पार्टी में कुमार विश्वास को संयोजक बनाने की मांग हो रही है।

Kej 4

उधर आप के ही एक विधायक अमानतुल्ला खान ने विश्वास के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। अमानतुल्ला ने कुमार विश्वास को बीजेपी का एजेंट कहा है। उन्होंने कहा है कि कुमार विश्वास पार्टी में फूट डालने की साजिश में जुटे हैं। वो आम आदमी पार्टी को हड़पना चाहते हैं और पार्टी को तोड़ना चाहते हैं।

उन्होंने कुमार विश्वास पर पार्टी तोड़ने का आरोप लगाते हुए कहा है कि,

कुमार विश्वास अपने घर पर विधायकों को बुलाकर कह रहे हैं कि मुझे पार्टी का संयोजक बनवाओ नहीं तो बीजेपी में चलो। बीजेपी हर एक को 30 करोड़ रुपये देने के लिए तैयार है

आप में चल रहा इस्तीफे का दौर 

हालांकि, अरविंद केजरीवल के ताज़ा ट्वीट से साफ नहीं है कि वो संयोजक का पद छोड़ने वाले हैं, लेकिन ये ट्वीट इस बात का संकेत जरूर है कि पार्टी के भीतर सब कुछ सामान्य है। ये भी हकीकत है कि एमसीडी चुनाव में हार के बाद पार्टी के कई बड़े नेताओं ने अलग-अलग पदों से इस्तीफा दिया है।

बता दें कि एमसीडी चुनावों में हार के बाद शनिवार को अरविंद केजरीवाल ने पहली बार अपनी ‘गलती’ स्वीकार की। इसके साथ ही उन्होंने कार्यकर्ताओं का आह्वान किया है कि मिलकर आत्मचिंतन करें और गलती सुधारें। खास बात यह है कि केजरीवाल ने कहा है कि यह गलती सुधारने का वक्त है न कि ‘बहाने’ बनाने का।

Kej 5


कमेंट करें